हैदराबाद, एजेंसियां। ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम के चुनाव में मंगलवार को मतदाताओं ने ज्यादा उत्साह नहीं दिखाया। यहां मतपत्रों के जरिए कराया गया मतदान युवा मतदाताओं को नया अनुभव देने वाला रहा। इससे पहले अधिकांश युवाओं ने ईवीएम के जरिए ही मतदान किया था। लेकिन, निराश करने वाली बात यह रही कि यहां भाजपा सहित तमाम स्थानीय पाटियों के पूरी ताकत लगाने के बाद भी शाम पांच बजे तक सिर्फ 35.80 फीसद ही मतदान हुआ।

मतदान खत्म होने से दो घंटे पहले तक केवल 29.76 फीसद मतदान दर्ज किया गया। इन चुनावों में कुल 74 लाख से ज्यादा मतदाता हैं। इनमें 38,89,637 पुरुष, 35,76,941 महिलाएं शामिल हैं। कम मतदान होने के पीछे कोरोना संक्रमण का खतरा बताया जा रहा है। गौरतलब है कि इस चुनाव में सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) सत्ता बरकरार रखने के लिए आश्वस्त है, जबकि भारतीय जनता पार्टी ने भी जीत हासिल करने के लिए पूरी ताकत लगाई है। इस बार भाजपा के मैदान में आ जाने से असदुद्दीन ओवैसी की भी साख दांव पर है

टीआरएस और भाजपा कार्यकताओं में झड़प 

मतदान के दौरान तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) और भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच कुकटपल्ली में झड़प हुई। इस मामले में पुलिस ने एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है। झड़प के कारणों का पता नहीं चल सका है। इस दौरान कोरोना संक्रमण के लिए जारी दिशा निर्देशों का जमकर उल्लंघन हुआ। 

वोटिंग की सुस्त रफ्तार

ग्रेटर हैदराबाद नगरपालिका चुनाव में पहले चार घंटों में बेहद कम वोटिंग हुई है। सुबह 11 बजे तक केवल 8.9 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले गए। ग्रेटर हैदराबाद म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (जीएचएमसी) के कई डिवीजनों में मतदान केंद्र पहले कुछ घंटों में ही बंद हो गए। वोटिंग पहले एक सुस्त नोट पर शुरू हुई, लेकिन सुबह 8 बजे के बाद कुछ मतदाता मतदान केंद्रों पर खड़े नजर आए।

कई दिग्गज नेताओ ने डाला वोट

- तेलंगाना के गृह मंत्री मोहम्मद महमूद अली( Mohammed Mahmood Ali) ने हैदराबाद में ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (GHMC) चुनाव के लिए मताधिकार का प्रयोग किया। तेलंगाना में अब तक आए आंकड़ों के मुताबिक 9 बजे तक 9 फीसद से 4.2 फीसद वोटिंग हुई।

तेलंगाना में टीआरएस नेता के कविता ने ग्रेटर हैदराबाद म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (जीएचएमसी) हैदराबाद में अपना वोट डाला। अपना वोट डालने के बाद उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि हैदराबाद के लोग आएं और वोट करें। वोट देने का अधिकार होना एक विशेषाधिकार है। अगर आप वोट नहीं देते हैं, तो आपको सवाल करने का कोई अधिकार नहीं होगा।

- तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) के कार्यकारी अध्यक्ष के.टी. रमा राव, केंद्रीय राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी और एआइएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी उन नेताओं में शामिल थे जिन्होंने मंगलवार को ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) चुनावों में पहले घंटे में अपना वोट डाला।  तेलंगाना के हैदराबाद में एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) चुनाव के लिए अपना वोट डाला। इस दौरान ओवैसी ने कहा कि मैं हैदराबाद के लोगों से अपील करता हूं कि वे लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए आज अपना वोट डालें।

हैदराबाद में तेलंगाना के मंत्री और टीआरएस नेता केटी रामाराव ने  ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) के लिए अपना वोट डाला है।

पहले मतदान करें, तब शिकायत करें- जी किशन रेड्डी

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) के चुनावों के लिए वोटिंग जारी है। इस बीच केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी ने अपना वोट डाला।  केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने सभी लोगों से मतदान की अपील की। उन्होंने कहा है कि घर में बैठे रहना, मतदान न करना और सरकार की आलोचना करने का कोई मतलब नहीं है। आप पहले वोट करिए तब सरकार पर सवाल उठाइए. जी किशन रेड्डी ने कहा कि सभी को अपने संवैधानिक अधिकार का इस्तेमाल करना चाहिए।

कई प्रत्याशी चुनावी मैदान में

चुनावों की बात करें तो ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) के चुनाव में इस बार कुल 1,122 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इसमें  टीआरएस के 150 प्रत्याशी, भाजपा के 149, कांग्रेस के 146, तेदेपा के 106, एआईएमआईएम के 51, भाकपा के 17,  माकपा के 12 और अन्य मान्यता प्राप्त क्षेत्रीय दलों के 76 और 415 निर्दलीय उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं।

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम का समीकरण

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम देश के सबसे बड़े नगर निगमों में से एक है। यह नगर निगम चार जिलों में है जिसमें हैदराबाद, रंगारेड्डी, मेडचल-मलकजगिरी और संगारेड्डी आते हैं। इसके अंतर्गत 24 विधानसभा क्षेत्र आते हैं और तेलंगाना की 5 लोकसभा सीटें इस इलाके से आती हैं। यही वजह है कि ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव में भाजपा, केसीऔर, कांग्रेस लेकर ओवैसी तक मैदान में साख के लिए लड़ रहे हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021