जागरण संवाददाता, नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस समारोह के बाद शांतिपूर्ण तरीके से किसानों को ट्रैक्टर परेड निकालने की इजाजत देने वाली दिल्ली पुलिस ने दोहराया है कि शर्तों का उल्लंघन करने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। निधार्रित रूटों पर ही किसान ट्रैक्टर परेड निकाल पाएंगे।

पुलिस आयुक्त ने लिया सुरक्षा तैयारियों का जायजा

मालूम हो कि सोमवार को भी पुलिस अधिकारियों व किसान नेताओं की इस मसले पर बातचीत होती रही। पुलिस अधिकारी बार-बार किसान नेताओें को तय शर्तो के अनुरूप ही रूटों पर परेड निकालने का अनुरोध करते रहे। पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने आला अधिकारियों के साथ संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर आदि कई सीमाओं का मुआयना किया।

ट्रैक्टर परेड को लेकर पुलिस समेत सभी सुरक्षा एजेंसियां सतर्क

पुलिस के मुताबिक, टीकरी, सिंघु व गाजीपुर आदि सभी सीमाओं पर ट्रैक्टर परेड शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने के लिए भारी सुरक्षा बल तैनात कर दिए गए हैं। गणतंत्र दिवस समारोह संपन्न होने के पश्चात समारोह की सुरक्षा में तैनात रिजर्व पुलिस बलों को भी तुरंत सीमाओं पर भेज दिया जाएगा। ट्रैक्टर परेड में पाकिस्तान द्वारा गड़बड़ी करने की आशंकाओं के मद्देनजर पुलिस समेत सभी सुरक्षा एजेंसियों को पूरी तरह सतर्क कर दिया गया है। पाकिस्तान में बनाए गए ट्विटर अकाउंट पर नजर रखी जाएगी।

रिंग रोड पर ट्रैक्टर परेड की किसी सूरत में इजाजत नहीं देगी पुलिस 

एक पुलिस अधिकारी का कहना है कि किसानों संगठनों के एक धड़े द्वारा रिंग रोड पर शर्तों का उल्लंघन करते हुए परेड निकालने की बात कही जा रही है। इसे देखते हुए उक्त सभी प्रतिबंधित रूटों पर छह स्तरीय मजबूत बैरिकेडिंग की गई है। डंपर व ट्रकों में पत्थरों के टुकड़े भरकर सड़कों पर खड़े कर दिए गए हैं ताकि कोई उक्त रूटों पर न आ सके।

सभी रूटों पर चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात

सभी रूटों पर वाटर कैनन व फायर ब्रिगेड की गाड़ियां खड़ी कर दी गई हैं। आंसू गैस के गोले के साथ पर्याप्त संख्या में रैपिड एक्शन फोर्स व पुलिस के जवानों की जगह-जगह तैनाती कर दी गई है।

ट्रैक्टर परेड पर नजर रखने के लिए कंट्रोल रूम

ट्रैक्टर परेड पर पूरी तरह से नजर रखने के लिए कुछ कंट्रोल रूम भी बनाए गए हैं, जहां से आयुक्त समेत अन्य आला अधिकारी पल-पल की नजर रखेंगे और जरूरत महसूस होने पर वे सीमाओं पर तैनात अधिकारियों को निर्देश दे सकेंगे। रिंग रोड पर किसी भी सूरत में परेड निकालने की इजाजत नहीं दी जाएगी। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप