नई दिल्ली, जेएनएन। देश के आर्मी चीफ विपिन सिंह रावत के एक बयान को सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है जिसमें उनका विवादित बयान प्रचारित किया जा रहा है। इस पोस्ट के मुताबिक “आर्मी चीफ बिपिन रावत जी ने कहा अगर नेता बनना है तो 5 साल पहले देश की सेवा के लिए आर्मी में होना अनिवार्य कर दिया जाए ! यकीन मानिए देश का 80% कचरा अपने आप ही साफ़ हो जायेगा. इनके बातों से कितने लोग सहमत है जो सहमत हैं शेयर करे”। हमारी जांच में ये बयान झूठा पाया गया है।

 

ऐसी ही एक पिक्चर सपोर्ट डोवाल नाम के फेसबुक पेज पर शेयर की जा रही है। इस समय इस पेज के 1.7 मिलियन फॉलोअर्स हैं और इस पोस्ट को अब तक 3000 बार शेयर किया जा चुका है।

पड़ताल

बड़ी संख्या में शेयर हो रही इस पोस्ट को जांचने का हमने फैसला किया। सबसे पहले सेना से जुड़े ट्विटर अकाउंट खंगाले, ताकि हमें कुछ मिल सके। हमें जल्द ही सफलता हाथ लगी। ADG PI -Indian Army नाम के ट्विटर अकाउंट ने इस फोटो को ट्वीट किया है। इसमें उन्होंने साफ बताया है कि ये फोटो फेक है और आर्मी चीफ ने ऐसा कोई बयान नहीं दिया है। इस ट्वीट में आगे बताया गया है कि सोशल मीडिया पर सेना अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत द्वारा जारी किया हुआ एक झूठा बयान कुछ असामाजिक तत्वों ने फैलाने का प्रयास किया है। यह बयान तथ्यहीन और गलत है। कृपया इसे आगे न फैलाएं।

 

आर्मी के द्वारा किए गए ट्वीट का हैंडल वैरिफाइड है। इससे साफ जाहिर हो जाता है। रावत ने ऐसा कोई बयान नहीं दिया है। आर्मी चीफ को बदनाम करने के लिए ये झूठी पोस्ट उनके नाम से चलाई जा रही है।

 पूरा सच जानें...सब को बताएं

 

सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी भी ऐसी किसी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज, और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। ईमेल कर सकते हैं। वाट्सएप के माध्यम से सूचना दे सकते है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप