मुंबई (एजेंसी)। महाराष्ट्र सरकार ऑनलाइन गेम 'ब्लू व्हेल' के खिलाफ केंद्र सरकार के सहयोग से कार्रवाई करेगी। मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने मंगलवार को राज्य विधानसभा में यह जानकारी दी। कथित तौर पर इसी गेम की वजह से 14 वर्षीय नौवीं के छात्र मनप्रीत ने शनिवार को अंधेरी इलाके में एक इमारत की पांचवीं मंजिल से छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली थी।

सदन में यह मामला राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के विधायक और पूर्व उप मुख्यमंत्री अजित पवार ने उठाया। उन्होंने कहा कि यह घटना हम सभी के लिए 'खतरे की घंटी' है। अपने जवाब में फड़नवीस ने कहा, 'यह ऑनलाइन गेम है और इसे नियंत्रित किया जा सकता है। ब्लू व्हेल गेम की वजह से छात्र के आत्महत्या करने की घटना की हम जांच कराएंगे। इसके अलावा कार्रवाई और मामले के समाधान के लिए राज्य सरकार केंद्र के सहयोग से कार्य करेगी।'

इस ऑनलाइन गेम के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए अजित पवार ने कहा, 'विभिन्न देशों में सौ से ज्यादा लोगों की जिंदगी छीन चुका यह गेम अब भारत पहुंच गया है और मनप्रीत इसका पहला शिकार बना है। यह गेम एक मास्टर नियंत्रित करता है जो खेलने वाले को विभिन्न टास्क देता है। यह मास्टर बाद में गेम खेलने वाले पर जीतने के लिए आत्महत्या करने का दबाव बनाता है। पुलिस को इस बात की जांच करनी चाहिए कि इस गेम में मनप्रीत का मास्टर कौन था और उसके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए।'

वहीं, पुलिस फिलहाल इस बात की जांच कर रही है कि क्या यह घटना 'ब्लू व्हेल' की आत्महत्या चुनौती से ही जुड़ी हुई है। क्योंकि मनप्रीत के दोस्त इस ऑनलाइन गेम के बारे में चर्चा कर रहे थे। पुलिस ने बताया कि इस गेम की शुरुआत रूस से हुई थी। गेम की शुरुआत में खेलने वाले से सोशल मीडिया के जरिये एक कागज पर ब्लू व्हेल बनाने के लिए कहा जाता है। इसके बाद उससे वही ब्लू व्हेल अपने शरीर पर भी बनाने के लिए कहा जाता है। फिर खेलने वालों को अकेले में हॉरर मूवी देखने जैसे अन्य टास्क दिए जाते हैं।

यह भी पढ़ें: आत्महत्या के लिए उकसाता है ये गेम, बच्चों को रखें इससे दूर

यह भी पढ़ें: इस गेम को खेलते हुए बच्चे ने किया सुसाइड, भारत में पहला मामला

Posted By: Kishor Joshi