नई दिल्ली, प्रेट्र। मुख्य चुनाव आयोग (सीईसी) सुशील चंद्र ने सोमवार को पांच राज्यों के मतदाताओं से अपील की कि वे अपने लोकतांत्रिक अधिकारों का उत्साहपूर्वक इस्तेमाल करें। उन्होंने कहा कि पांचों राज्यों में विधानसभा चुनावों के लिए पूर्ण कोरोना सुरक्षित प्रबंध किए गए हैं। 

12 वें राष्ट्रीय मतदाता दिवस की पूर्व संध्या पर अपने संदेश में उन्होंने यह भी कहा कि मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की उपस्थिति लोकतंत्र को मजबूत करती है। भारत के गणतंत्र बनने से एक दिन पहले 25 जनवरी, 1950 को निर्वाचन आयोग अस्तित्व में आया था।

पिछले 12 वर्षो से 25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। चंद्रा ने कहा कि कोरोना महामारी के बीच पिछले दो वर्षों में चुनाव कराना बेहद चुनौतीपूर्ण रहा है। इस दौरान आयोग ने यह सुनिश्चित किया कि मत और मतदाता सुरक्षित रहें। उन्होंने कहा कि इस बार का राष्ट्रीय मतदाता दिवस अधिक महत्व रखता है क्योंकि यह भारत में हुए पहले चुनाव के 70 साल पूरे होने का प्रतीक है।

मंगलवार को 12वें मतदाता दिवस के लिए थीम 'Making Elections Inclusive, Accessible and Participative' रखा गया है। इस मौके को मनाने के लिए चुनाव आयोग ने पूरी तैयारी कर ली है। उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू (Vice President M. Venkaiah Naidu) को इस मौके पर मुख्य अतिथि के तौर पर चुना गया था लेकिन किसी कारणवश वे इसमें शामिल नहीं हो सकेंगे। लेकिन उनका संदेश वर्चुअल तौर पर प्रसारित किया जाएगा। केंद्रीय कानून मंत्री किरण रिजीजू (Kiren Rijiju ) इस मौके पर अतिथि के तौर पर हिस्सा लेंगे।

Edited By: Monika Minal