जोधपुर, राज्‍य ब्‍यूरो।राजस्थान के बाड़मेर जिले के बायतु थाना क्षेत्र में में भारतीय सेना के चीतल हेलीकॉप्टर ने इमरजेंसी लैंडिंग की। हेलीकॉप्टर अपनी नियमित उड़ान पैड था और जोधपुर एयर बेस की ओर आ रहा था।

तकनीकी खराबी के चलते आपात लैंडिंग

भारतीय सेना के रक्षा प्रवक्ता संबित घोष से मिली जानकारी के अनुसार हेलीकॉप्टर में पायलट , सहपायलट और एक टेक्नीशियन हेल्पर था, जो कि पूरी तरह से सुरक्षित हैं। हेलीकॉप्टर ने बाड़मेर के उत्तरलाई से उड़ान भरी थी, और जोधपुर के लिए एक नियमित उड़ान पर था, लेकिन बीच मे भी तकनीकी खराबी के चलते आपात लेंडिंग करवानी पड़ी।

खुले खेत मे लैंडिंग 

बाड़मेर की बायुत थाना पुलिस के अनुसार सेना का ये हेलीकॉप्टर की गिड़ा तहसील के चिड़िया गांव के खुले मैदान में एहतियातन लैंडिंग हुई, जिसमे कोई भी हताहत नहीं है, साथ ही खुले खेत मे लेंडिंग होने से कोई जनहानि नही हुई। स्थानीय उच्च अधिकारियों के साथ सेना के अधिकारियों को भी सूचना दी गयी , साथ ही मौके पर सुरक्षा चक्र बनाकर व्यवस्था संभाली । 

सेना के हेलीकॉटर की जम्‍मू में हुई इमरजेंसी लैंडिंग 

गुरुवार को ही जम्मू संभाग के जिला पुंछ में एक बड़ी दुर्घटना होने से टल गई। सेना का एडवांस लाइट हेलीकाप्टर (एएलएच) जिसमें उत्तरी कमान के सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह अन्य सात सैन्य अधिकारियों के साथ बैठे हुए थे, उसमें करीब दो बजे दोपहर अचानक तकनीकी खराबी आ गई। पायलट ने इस पर सूझबूझ बरतते हुए तुरंत हेलीकाप्टर की सुरक्षित लैंडिंग करवा दी। इससे हेलीकाप्टर में सवार उत्तरी सेना प्रमुख सहित सभी अधिकारी सुरक्षित हैं।

पायलट ने पुंछ के सब्जियां इलाके में हेलीकाप्टर की सुरक्षित लैडिंग करवाई। जमीन पर हेलीकाप्टर के उतरते ही सेना प्रमुख सहित अन्य अधिकारियों को हेलीकाप्टर से सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया।

बताया जा रहा है कि बार-बार पाकिस्‍तान की ओर हो रही गोलीबारी को लेकर भारतीय जवानों का मनोबल बढ़ाने और सीमा पर सुरक्षा व्यवस्था को कड़ा बनाने के लिए ही सेना प्रमुख जिला पुंछ आए हुए हैं। गोलीबारी की आड़ में आतंकियों के एक दल ने भारतीय चौकी पर हमला बोलते हुए नायब सूबेदार को शहीद कर दिया था।

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप