मुंबई, एजेंसियां। मुंबई की स्पेशल हॉलिडे कोर्ट ने यस बैंक (Yes Bank) के संस्थापक राणा कपूर को 11 मार्च तक प्रवर्तन निदेशालय (ED) की हिरास्त में भेज दिया है। इससे पहले रविवार तड़के मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप में ईडी के अधिकारियों ने 20 घंटे लंबी पूछताछ के बाद उन्हें देर रात 3 बजे गिरफ्तार किया था। 

इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शुक्रवार को बैंक के संस्थापक राणा कपूर के खिलाफ मनी लांड्रिंग का मामला दर्ज कर उनके मुंबई स्थित आवास पर छापेमारी की। उनके खिलाफ लुकआउट सर्कुलर (एलओसी) भी जारी कर दिया गया है, ताकि वह देश छोड़कर नहीं जा सकें।

बेटियां भी जांच के घेरे में

ईडी ने शुक्रवार रात राणा कपूर के वरली स्थित आवास पर जाकर उससे पूछताछ की थी। शनिवार को उसे बेलार्ड पियर्स स्थित ईडी कार्यालय बुलाकर पूछताछ की गई। जांच का दायरा बढ़ाते हुए उसकी तीन बेटियों राखी कपूर टंडन, रोशनी कपूर और राधा कपूर के दिल्ली और मुंबई स्थित घरों पर भी छापेमारी की गई और उनसे पूछताछ की गई। सूत्रों के अनुसार ईडी को पता चला है कि यस बैंक से लिए गए भारी-भरकम कर्ज के बदले दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (डीएचएफएल) ने राणा कपूर के परिवार की एक कंपनी को 600 करोड़ का कर्ज दिया था।

संकट जल्द खत्म होने के आसार

माना जा रहा है कि मामले में वित्त मंत्रालय की सक्रियता की वजह से यस बैंक का संकट एक महीने से पहले खत्म हो सकता है। यस बैंक में 49 फीसद हिस्सेदारी खरीदने का फैसला कर चुके भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआइ) के प्रमुख रजनीश कुमार ने शनिवार को कहा कि यस बैंक में अधिकतम 10,000 करोड़ रुपये तक का निवेश किया जा सकता है। सूत्रों के मुताबिक यस बैंक को संभालने में सरकारी बीमा कंपनी एलआइसी की भी मदद ली जा सकती है।

निदेशक बोर्ड 30 दिनों के लिए निरस्त

बता दें कि पहले प्रमोटरों की लड़ाई और उसके बाद गहरे वित्तीय संकट से जूझ रहे निजी क्षेत्र के यस बैंक पर भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआइ) ने गुरुवार को एक महीने के लिए प्रतिबंध लगा दिया था। यस बैंक के मौजूदा निदेशक बोर्ड को भी 30 दिनों के लिए निरस्त कर दिया गया और भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआइ) के पूर्व सीएफओ प्रशांत कुमार को प्रशासक नियुक्त किया गया है। इस एक महीने में बैंक का कोई भी खाताधारक 50 हजार रुपये से ज्यादा राशि नहीं निकाल सकेगा। विशेष परिस्थितियों में अतिरिक्त 50,000 रुपये निकासी की इजाजत दी गई है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021