नई दिल्ली, जेएनएन। उत्तर-पूर्वी राज्य असम के बारपेटा में मंगलवार सुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए। राज्य के बारपेटा में सुबह 9.17 बजे 4.7 रिक्टर स्केल का भूकंप दर्ज किया गया।

पिछले करीब 1 पखवाड़े में जम्मू-कश्मीर से लेकर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, बिहार, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, झारखंड और पश्चिम बंगाल तक में भूकंप के हलके झटके महसूस किए गए हैं।

आपको इस बात की जानकारी तो है कि धरती का कंपन यानि भूकंप का नाम सुनते ही इंसान की रुह कांप उठती है। भूकंप के एक मामूली झटके से हजारों जानें और शहर के शहर धराशायी हो जाते हैं। जनजीवन सामान्य होने में वर्षों लग जाते हैं।

निराश करने वाली बात यह है कि अभी तक हम भूकंप का खतरा कम करने के लिए भूकंपरोधी भवन की तकनीक पर निर्भर हैं। अभी तक कोई ऐसी तकनीक विकसित नहीं हो सकी है जो भूकंप का कुछ घंटे पहले या कुछ दिन पहले पता लगा सके। लेकिन अब फ्रांस के वैज्ञानिकों ने भूंकप की राह को मोड़ने के लिए खास तरह की तकनीक ईजाद की है। इस तकनीक पर अब उनके साथ मिलकर आइआइटी के वैज्ञानिक भी काम करेंगे।

Posted By: Digpal Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप