राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली। दिल्ली में देश की सबसे ऊंची रिहायशी इमारत बनाने की तैयारी चल रही है। दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) द्वारा बनाई जाने वाली इस इमारत में न केवल पांच हजार परिवारों की गृहस्थी बसेगी, बल्कि सभ्यता, संस्कृति सहित अन्य व्यावसायिक गतिविधियों के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: एफिल टॉवर की बत्तियां बुझाकर दी मृतकों को श्रद्धांजलि

कड़कड़डूमा इलाके में डीडीए 30 हेक्टेयर जमीन में 100 मंजिला टॉवर बनाएगा। इस टॉवर की ऊंचाई तकरीबन 300 मीटर होगी। अभी तक दिल्ली की सबसे ऊंची इमारत के रूप में निगम मुख्यालय सिविक सेंटर का नाम शुमार है जोकि महज 28 मंजिल का टॉवर है। इसकी कुल ऊंचाई 112 मीटर है।

डीडीए उपाध्यक्ष बलविंदर कुमार ने बताया इस आइकॉनिक टॉवर की छत पर आपातकालीन एवं चिकित्सा सेवाओं के लिए हेलीपैड के साथ-साथ शहर का मनोरम दृश्य दिखाने वाले रेस्तरां, डिस्कोथेक और कैफे होंगे। फिलहाल देश की सबसे ऊंची इमारत मुबंई स्थित इम्पीरियल टॉवर है, जिसकी ऊंचाई 254 मीटर है। यह इमारत 60 मंजिल की है।

इसे भी पढ़ें: धमकी के बाद बिस्कोमान टावर का होगा इंश्योरेंस

Posted By: Tilak Raj

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस