नई दिल्ली, पीटीआइ। भारत के केंद्रीय औषधि प्राधिकरण के विशेषज्ञ पैनल ने शुक्रवार को सीरम इंस्टीट्यूट के कोवोवैक्स को 7 से 11 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण देने की सिफारिश की है। आधिकारिक सूत्रों ने इस बात की जानकारी दी। सिफारिश को अंतिम मंजूरी के लिए भारत के औषधि महानियंत्रक (DCGI) को भेज दिया गया है।

बता दें कि सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया (एसआईआई) के निदेशक (सरकारी और नियामक मामलों) प्रकाश कुमार सिंह ने 16 मार्च को आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण के लिए आवेदन प्रस्तुत किया था।

एक आधिकारिक सूत्र ने कहा-

  • सीडीएससीओ की कोविड​​​​-19 पर विषय विशेषज्ञ समिति (SEC) ने SII के ईयूए आवेदन पर विचार किया और 7 से 11 साल की उम्र के बच्चों के लिए कोवोवैक्स के लिए आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण देने की सिफारिश की।
  • विशेषज्ञ पैनल ने अप्रैल में अपनी पिछली बैठक में आवेदन पर पुणे स्थित फर्म से अधिक डेटा मांगा था।

आपको बताते चलें कि भारत के ड्रग रेगुलेटर (DGCI) ने पिछले साल 28 दिसंबर को व्यस्कों में कोवोवैक्स वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी दी थी और 12 से 17 साल के बच्चों के लिए इसे कुछ शर्तों के साथ बीते 9 मार्च को मंजूरी दी गई थी। वहीं इससे पहले, सीरम इंस्टीट्यूट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अदार पूनावाला ने कंपनी द्वारा तैयार 'कोवोवैक्स' को लेकर स्पष्टीकरण दिया गया था, जिसमें पूनावाला ने कहा था कि कोविड रोधी टीका कोवोवैक्स 12 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों के लिए उपलब्ध है।

COVID-19 टीकाकरण का अगला चरण पिछले साल 1 मार्च को 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों और 45 वर्ष और उससे अधिक आयु के लोगों के लिए निर्दिष्ट सह-रुग्ण स्थितियों (co-morbid conditions) के साथ शुरू हुआ था। भारत ने पिछले साल 1 अप्रैल से 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों के लिए टीकाकरण शुरू किया। इसके बाद सरकार ने पिछले साल 1 मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को वायरल बीमारी के खिलाफ टीकाकरण की अनुमति देकर अपने टीकाकरण अभियान का विस्तार करने का फैसला किया।

टीकाकरण का अगला चरण 3 जनवरी से 15-18 वर्ष के आयु वर्ग के किशोरों के लिए शुरू हुआ। भारत ने 10 जनवरी से स्वास्थ्य देखभाल और फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं और 60 वर्ष और उससे अधिक आयु के लोगों को टीकों की एहतियाती खुराक देना शुरू किया। 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों के लिए COVID-19 टीकों की एहतियाती खुराक 10 अप्रैल से निजी टीकाकरण केंद्रों पर शुरू हुई।

Edited By: Ashisha Rajput