जेएनएन, वाशिंगटन। 75 वर्षों से दैनिक जागरण को उसके पाठक हर सुबह की जागृति मानते आए हैं। तमाम कसौटियों पर कसने के बाद भी दैनिक जागरण आज तक खबरों की विश्वसनीयता और सामाजिक सरोकारों के प्रति अपनी प्रतिबद्धता पर अडिग है। यही वजह है कि साल दर साल पाठकों का भरोसा हमारे प्रति और मजबूत होता जा रहा है। इसकी बानगी इंडियन रीडरशिप सर्वे 2017 में सात करोड़ की पाठक संख्या के साथ देखने को मिली।

पाठकों के भरोसे के दम पर दैनिक जागरण के हिस्से में एक बार फिर ऐसा ही गौरवशाली पल आया है। इंटरनेशनल न्यूज मीडिया एसोसिएशन (इनमा) द्वारा दैनिक जागरण के अभियानों को इस साल सात पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है। इनमें दो प्रथम, दो द्वितीय, दो तृतीय और एक बेस्ट इन साउथ एशिया पुरस्कार शामिल हैं। इनमा पुरस्कारों में सात अवार्ड जीतने के बाद दैनिक जागरण दुनिया के सबसे ज्यादा पुरस्कृत समाचारपत्रों में शुमार हो गया है। जिन श्रेणियों में समाचारपत्रों को अवार्ड दिए जाते हैं, उन सब में दैनिक जागरण को सर्वाधिक अवार्ड मिले।

‘कैसिनो ग्रांडे’ और ‘बेटियों की डायरी’ अभियान का डंका: इस बार के पुरस्कारों में हरियाणा में संचालित ‘पराली’ और लखनऊ में हुए ‘आधा गिलास पानी’ समाचारीय अभियान को अपनी श्रेणी में तृतीय पुरस्कार मिला। वहीं ‘कैसिनो ग्रांडे’ व ‘अमेजन आपके द्वार’ को अपनी श्रेणी में द्वितीय पुरस्कार के लिए चुना गया।

‘कैसिनो ग्रांडे’ व ‘बेटियों की डायरी’ को अन्य श्रेणी में प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया गया, लेकिन सबसे खास पुरस्कार रहा ‘बेस्ट इन साउथ एशिया अवार्ड,’ जो ‘बेटियों की डायरी’ संपादकीय अभियान को दिया गया।

Posted By: Bhupendra Singh