मुंबई, प्रेट्र। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआइएल) के चेयरमैन मुकेश अंबानी की सुरक्षा में तैनात सीआरपीएफ का एक कमांडो उनके घर 'एंटीलिया' में मृत मिला है। अधिकारियों ने बताया कि इस बात की जांच की जा रही है कि उक्त कमांडो ने आत्महत्या की है अथवा उसका सर्विस वेपन दुर्घटनावश चल गया।

अधिकारियों के मुताबिक, कांस्टेबल बोटारा डी. रामभाई बुधवार रात दक्षिण मुंबई स्थित 'एंटीलिया' में मृत पाया गया। ऐसा लगता है कि उसने आत्महत्या की है, लेकिन अभी जांच जारी है। कांस्टेबल रामभाई गुजरात के जूनागढ़ जिले का रहने वाला था और वह 2014 में सीआरपीएफ में भर्ती हुआ था।

मालूम हो कि मुकेश अंबानी को जेड-प्लस श्रेणी की वीआइपी सुरक्षा हासिल है और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) उन्हें यह सुरक्षा उपलब्ध कराता है। जबकि उनकी पत्नी नीता अंबानी को वाई श्रेणी की सुरक्षा हासिल है।

क्‍या है Z + कैटेगरी सुरक्षा

Z+ सुरक्षा तीन स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था है, जिसमें कुल 36 सुरक्षाकर्मी लगे होते हैं। इनमें 10 एनएसजी के कमांडोज होते हैं। पहले घेरे की जिम्मेदारी इनकी ही होती है। इसके बाद दूसरे घेरे में एसपीजी के अधिकारी होते हैं। तीसरे स्तर पर आईटीबीपी और सीआरपीएफ के जवान सुरक्षा का जिम्मा संभालते हैं।

देश में नक्सल विरोधी अभियान और आंतरिक सुरक्षा कार्यों के संचालन के लिए पहचाने बनाने वाला प्रमुख सुरक्षा बल सीआरपीएफ (CRPF) के पास लगभग 52 अन्‍य वीवीआइपी (VVIP) की सुरक्षा है, जिनमें केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, पूर्व प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह और RIL मुकेश अंबानी और उनकी पत्नी नीता अंबानी शामिल हैं। 

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस