नई दिल्‍ली, एजेंसियां/जेएनएन। पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय हो जाने के चलते शनिवार को उत्‍तर भारत के कई राज्‍यों में बारिश, बर्फबारी और ओलावृष्टि हुई। राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में मौसम की बेरुखी इस कदर दिखी कि दिल्‍ली एयरपोर्ट से 14 फ्लाइटों को लखनऊ, अ‍मृतसर, अहमदाबाद और जयपुर के लिए डायवर्ट करना पड़ा। उत्तराखंड में केदारनाथ, बदरीनाथ, हेमकुंड और कुमाऊं के ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी का दौर जारी है। देहरादून, गढ़वाल और कुमाऊं मंडल के कई जिलों में भारी बारिश दर्ज की गई। रुद्रप्रयाग जिले के अगस्त्यमुनि इलाके में एक महिला गदेरे में आए उफान में बह गई।

किसानों पर तगड़ी मार

हिमाचल प्रदेश के शिमला, सोलन, कांगड़ा में दोपहर के वक्‍त अंधेरा हो गया। सोलन जिले में भारी ओलावृष्टि से फसलों को को काफी नुकसान पहुंचा है। शिमला के कुफरी में भारी बर्फबारी हुई जिससे नारकंडा एनएच पांच पर आवाजाही बंद हो गई है। हरियाणा के कई इलाकों में ओले पड़ने से किसानों पर तगड़ी मार पड़ी है। हरियाणा के गोहना समेत करीब 10 गांवों में ओलावृष्टि हुई। भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के प्रदेश उपाध्यक्ष सत्यवान नरवाल ने ओलावृष्टि से फसलों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए राज्य सरकार से प्रति एकड़ 40 हजार रुपये की दर से मुआवजा देने की मांग की है।

आलू की फसल के सड़ने का डर

उत्‍तर प्रदेश के आगरा और आसपास के इलाकों में भारी ओलावृष्टि हुई जिससे खेतों में ओलों की चादर सी बिछ गई। स्‍थानीय लोगों ने बताया कि ओलों का आकार काफी बड़ा था। शहरी क्षेत्र के अलावा आसपास फतेहाबाद, शमसाबाद, किरावली, फतेहपुरसीकरी, खंदौली में भी ओले गिरे हैं। कृषि वैज्ञानिकों की मानें तो ब्रजमंडल में खेतों में आलू और सरसों की फसल तैयार होने की ओर है। ओले गिरने से इन फसलों के नष्‍ट होने की आशंका है। आलू किसानों ने बताया कि ओले पड़ने से आलू की अगैती फसल दागदार होकर इसके सड़ने का डर है। पंजाब के कई इलाकों में अच्‍छी बारिश दर्ज की गई है। खराब मौसम के कारण हिमाचल के गगल एयरपोर्ट पर हवाई सेवाएं काफी देर तक ठप रहीं। 

दिल्ली में मौसम खराब होने पर भूपेश बघेल पहुंचे जयपुर 

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का प्लेन दिल्ली में मौसम खराब होने के कारण जयपुर डायवर्ट हुआ। भूपेश बघेल शनिवार शाम को छत्तीसगढ़ से दिल्ली जा रहे थे। इसी बीच दिल्ली में मौसम खराब होने के कारण उनका प्लेन वहां नहीं उतर सका और जयपुर डायवर्ट हो गया। इस पर वे जयपुर के सांगानेर हवाई अड्डे पहुंचे। यहां राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भूपेश बघेल से शिष्टाचार मुलाकात की। मौसम विभाग के अनुसार तीन मार्च की रात से नया पश्चिमी विक्षोभ पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र और पास के पठारी क्षेत्र में बनेगा। 

पांच से छह मार्च को फिर से बारिश के आसार 

श्रीवास्तव ने बताया कि दो से चार मार्च के दौरान फिर से अधिकतम तापमान व न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी होने की उम्मीद है। इसके बाद चार मार्च की रात से पश्चिमी विक्षोभ फिर से दस्तक देगा। इससे दिल्ली-एनसीआर में पांच से छह मार्च को फिर से बारिश होने के भी आसार हैं। राजस्थान में शनिवार को कई जिलों में बारिस के साथ ओले गिरे। धौलपुर, सीकर, झुंझुनूं और टोंक जिलों में 10 से 30 मिनट तक तेज बरसात हुई, इसके बाद ओले गिरे। कई जगहों पर बरसात से गेहूं की फसल खराब हो गई है। मौसम विभाग ने पूर्वी राजस्थान के झुंझुनूं, अलवर, सीकर, भरतपुर, दौसा, करौली जिलों में कुछ स्थानों पर बादतल गरजने के साथ हल्की बरसात की चेतावनी जारी की है। उत्‍तराखंड में कल भी मौसम खराब रहेगा। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस