नई दिल्‍ली, पीटीआइ। देश में कोविड-19 रोधी वैक्‍सीन कोविशील्ड और कोवैक्सिन के जल्‍द ही बाजार में आने की संभावना है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इन दोनों टीकों को जल्द ही भारत के औषधि नियामक से बाजार में उतारने के लिए मंजूरी मिलने की उम्मीद है। इनकी कीमत प्रति खुराक 275 रुपये और अतिरिक्त सेवा शुल्क 150 रुपये तक सीमित रखने की संभावना है। राष्ट्रीय औषधि मूल्य निर्धारण प्राधिकरण (National Pharmaceutical Pricing Authority, NPPA) को टीकों को टीकों को किफायती बनाने के लिए कीमत सीमित रखने की दिशा में काम शुरू करने का निर्देश दिया गया है।

अभी तक निजी अस्‍पतालों में कोवैक्‍सीन (Covaxin) की कीमत 1,200 रुपये प्रति खुराक और कोविशील्‍ड (Covisheeld) की कीमत 780 रुपये प्रति डोज निर्धारित है। इन कीमतों में 150 रुपये का सर्विस चार्ज शामिल है। देश में ये दोनों टीके केवल आपातकालीन उपयोग के लिए अधिकृत हैं। केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन की कोविड-19 पर विषय विशेषज्ञ समिति ने 19 जनवरी को कोविशील्ड और कोवैक्सिन को कुछ शर्तों के साथ वयस्कों के लिए नियमित रूप से बाजार बेचने की मंजूरी देने की सिफारिश की थी।

आधिकारिक सूत्र ने कहा कि राष्ट्रीय औषधि मूल्य निर्धारण प्राधिकरण (National Pharmaceutical Pricing Authority, NPPA) को किफायती दर पर उपलब्‍ध कराने की दिशा में काम करने के लिए कहा गया है। वैक्‍सीन की कीमत 275 रुपये प्रति डोज और 150 रुपये के अतिरिक्त सेवा शुल्क के साथ मूल्य को सीमित रखे जाने की संभावना है। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के निदेशक (सरकार और नियामक मामलों) प्रकाश कुमार सिंह ने 25 अक्टूबर को ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया को एक आवेदन दिया था जिसमें कोविशिल्ड वैक्सीन को नियमित बाजार में उतारने की मंजूरी मांगी गई थी।

यही नहीं कुछ हफ्ते पहले भारत बायोटेक (Bharat Biotech) के पूर्णकालिक निदेशक वी कृष्ण मोहन (V. Krishna Mohan) ने कोवैक्सिन को नियमित बाजार में उतारने की मांग करते हुए पूर्व-नैदानिक ​​और नैदानिक ​​डेटा के साथ रसायन, निर्माण और नियंत्रण पर पूरी जानकारी प्रस्तुत की थी। देश में पिछले साल तीन जनवरी को कोविड-19 रोधी वैक्‍सीन कोवैक्सिन और कोविशील्ड को आपातकालीन इस्‍तेमाल (Emergency Use Authorisation, EUA) की मंजूरी दी गई थी।

Edited By: Krishna Bihari Singh