पुणे, एएनआइ। एक मार्च से कोरोना टीकाकरण अभियान के दूसरे चरण की शुरूआत होने जा रही है। केंद्र सरकार ने बुधवार को इसका एलान किया है। दूसरे चरण में 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन दी जाएगी। इसके अलावा निजी अस्पतालों में भी टीकाकरण की सुविधा होगी। वहीं, दूसरी तरफ सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीइओ अदार पूनावाला ने कहा है कि हम सभी के लिए एक एतिहासिक क्षण है क्योंकि कोवैक्स और SII की तरफ से तैयार की गई ऑक्सफोर्ड-एस्ट्रोजेनेका वैक्सीन की अपनी पहली खुराक 'कोविशिल्ड' की गई है। उन्होंने कहा कि सस्ती और प्रोटेक्टिव वैक्सीन के साथ महामारी से लड़ने में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया सबसे आगे रहेगा।

बता दें कि एक मार्च से मुफ्त टीकाकरण अभियान में वरिष्ठ नागरिकों यानी 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को भी शामिल किया जाएगा। साथ ही 45 साल से अधिक उम्र के ऐसे लोग भी टीकाकरण करा सकेंगे, जो किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में इस बारे में फैसला किया गया।

सरकारी सेंटरों में फ्री मिलेगी वैक्सीन

सूचना व प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने बताया कि अगले महीने की पहली तारीख से टीकाकरण अभियान में सरकारी के साथ-साथ निजी क्षेत्र को भी शामिल किया जाएगा। वैक्सीनेशन के लिए 10 हजार सरकारी और 20 हजार निजी क्षेत्र के सेंटर शामिल होंगे। फर्क यह होगा कि सरकारी सेंटर पर कोरोना का मुफ्त टीका लगेगा, जबकि निजी सेंटरों पर इसकी कीमत चुकानी होगी, जो केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय तय करेगा। इसकी घोषणा एक-दो दिन में की जाएगी। यह तय है कि सरकार थोक में वैक्सीन खरीदकर सरकारी और निजी दोनों केंद्रों पर उपलब्ध कराएगी। इससे निश्चित तौर पर निजी केंद्रों पर भी टीके की कीमत कम ही रहेगी।

Edited By: Neel Rajput