मुंबई (एजेंसी)। पिछले हफ्ते इंडिगो का यात्री विमान और वायुसेना का एक विमान चेन्नई के आसमान में अचानक टकराने वाले थे। लेकिन ऐन मौके पर विमान में स्वत: संचालित चेतावनी के जारी होते ही बहुत बड़ा हादसा टल गया। जानकारी के मुताबिक 21 मई को घटना के समय यह दोनों विमान एक-दूसरे से महज 300 फीट ही दूर थे। इसके चलते इंडिगो के पायलट के लिए स्वत: एक चेतावनी जारी हुई। इससे सचेत होकर इंडिगो का पायलट तुरंत ही विमान को सुरक्षित दूरी पर ले गया।

रेजुलुशन एडवाइजरी (आरए) नाम की यह चेतावनी कॉकपिट में पायलट के लिए खुद ही जारी हो जाती है। इसमें बताया जाता है कि पायलट कैसे विमान का संचालन आटो मोड से अपने हाथ में ले और विमान की टक्कर को रोक दे।

इंडिगो एयरलाइंस ने इस घटना की पुष्टि की है। हालांकि वायुसेना ने इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी है। दरअसल, इंडिगो विमान वीटी-आइटीडब्लू विशाखापत्तनम और बेंगलुरु के हवाई मार्ग पर नियमित रूप से उड़ान भरता है। घटना के समय चेन्नई के आकाश में इंडिगो एयरबस ए320 विमान जमीन से 24 हजार फीट ऊपर था। हादसे को 21 मई की रात करीब 9.49 बजे टाला गया। अब इस घटना की जांच डीजीसीए कर रहा है।

Posted By: Nancy Bajpai