मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चह्वाण ने कांग्रेस-राकांपा के संयुक्त चुनाव प्रचार की एकजुटता के लिए राकांपा प्रमुख शरद पवार को श्रेय दिया है। चह्वाण ने स्वीकार किया कि इस बार भाजपा-शिवसेना से कड़ी चुनौती मिल रही है। हालांकि उन्होंने उम्मीद जताई कि लोकसभा चुनावों में गठबंधन 25 सीटों के आंकड़े में बढ़ोतरी करेगा।

चव्हाण ने साक्षात्कार में बताया, 'मेरा मानना है कि पवार और उनकी टीम को श्रेय दिया जाना चाहिए। हम अपनी ओर से महसूस करते हैं कि यह चुनाव साथ लड़ने के लिए हमें अपने मतभेद किनारे कर एकजुट होना होगा। ये मतभेद स्थानीय स्तर के चुनाव लड़ने पर आ ही जाते हैं।'

चह्वाण ने कहा,'हम अभी भी यह पक्का कर लेना चाहते हैं कि लोग एक साथ और एकजुटता से काम करें। हम [कांग्रेस और राकांपा] एक दूसरे के निर्वाचन क्षेत्रों का दौरा कर रहे हैं, संयुक्त बैठकें भी कर रहे हैं। पवार सोनिया जी की सभा में शामिल हुए और मंच से लोगों को संबोधित किया। मैं भी राकांपा के निर्वाचन क्षेत्रों में जाता रहा हूं। वह हमारे निर्वाचन क्षेत्रों में आते रहे हैं। मेरा मानना है कि हमने एक संयुक्त और एकजुट तस्वीर पेश की है।'

चह्वाण ने कहा,'चुनौती है [शिव सेना-भाजपा गठबंधन से]। मैं खतरा शब्द का इस्तेमाल नहीं करूंगा।' उन्होंने कहा,'साथ ही भ्रष्टाचार के खुलासों, आम आदमी पार्टी के अस्तित्व में आने, अन्ना हजारे का आंदोलन भी चुनौती हैं। नरेंद्र मोदी की ओर से मीडिया को विज्ञापनों से भर देना भी चुनौती है। चुनाव में कोई भी चुनौती छोटी नहीं होती। कांग्रेस पार्टी इसे हल्के में नहीं लेना चाहेगी।'

केरल में नहीं है मोदी की लहर: ओमन चांडी

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस