Move to Jagran APP

'व्यर्थ नहीं जाएगा बलिदान', कठुआ हमले पर केंद्र का बड़ा बयान, जरूर लेंगे बदला... किसी को नहीं छोड़ेंगे

केंद्र सरकार ने कठुआ हमले का बदला लेने की बात कही है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि आतंकियों ने घात लगाकर हमला किया है। सर्च अभियान चलाया जा रहा है। बता दें कि कठुआ हमले में पांच जवानों ने बलिदान दिया और पांच अन्य घायल हुए हैं। कांग्रेस ने कहा कि जम्मू क्षेत्र आतंकी गतिविधियों का नया केंद्र बन गया है। सरकार को इसे गंभीरता से लेना चाहिए।

By Jagran News Edited By: Ajay Kumar Tue, 09 Jul 2024 11:45 PM (IST)
Kathua Attack: कठुआ आतंकी हमले पर केंद्र सरकार गंभीर।

पीटीआई, नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के कठुआ में सैन्य वाहनों पर आतंकी हमले की घटना को केंद्र सरकार ने गंभीरता से लिया है और आतंकियों को सख्त चेतावनी दी है। रक्षा सचिव गिरिधर अरमाने ने मंगलवार को कहा कि पांचों सैन्य जवानों की शहादत व्यर्थ नहीं जाने दी जाएगी। इनकी मौत का बदला लिया जाएगा। भारत इस हमले के पीछे की बुरी ताकतों को किसी कीमत पर छोड़ेगा नहीं।

यह भी पढ़ें: कठुआ आतंकवादी हमले में बलिदान पांचों जवान उत्तराखंड के, देहरादून लाए गए पार्थिव शरीर

बड़े पैमाने पर सर्च अभियान जारी

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सशस्त्र बल क्षेत्र में शांति स्थापित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। सोमवार को कठुआ के बदनोता इलाके में भारी हथियारों से लैस आतंकवादियों के एक गुट ने गश्ती दल पर घात लगा हमला किया था। इस हमले में पांच सैन्यकर्मी बलिदान जबकि पांच अन्य घायल हुए थे। आतंकवादियों की तलाश में बड़े पैमाने पर सर्च अभियान चल रहा है।

देश जवानों के परिवारों के साथ खड़ा: रक्षा मंत्री

रक्षा मंत्री ने एक्स पर कहा- ''कठुआ के बदनोता में आतंकी हमले में हमारे पांच बहादुर भारतीय सेना के जवानों की शहादत पर मुझे गहरा दुख हुआ है। शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी गहरी संवेदना है, राष्ट्र इस कठिन समय में उनके साथ खड़ा है। आतंकवाद विरोधी अभियान जारी है और हमारे सैनिक क्षेत्र में शांति और व्यवस्था स्थापित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।'' उन्होंने इस आतंकी हमले में घायल हुए जवानों के शीघ्र स्वस्थ होने की भी कामना की।

बुरी ताकतों को नहीं छोड़ेंगे

रक्षा सचिव अरमाने ने भी घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया और शोक संतप्त परिवारों के प्रति गहरी संवेदना जताई। उन्होंने कहा- ''राष्ट्र के प्रति उनकी निस्वार्थ सेवा को हमेशा याद रखा जाएगा और उनके बलिदान का बदला लिया जाएगा और भारत हमले के पीछे की बुरी ताकतों को छोड़ेगा नहीं।'' अरमाने की टिप्पणी को रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने एक्स पर साझा किया।

कड़ी जवाबी कार्रवाई की जानी चाहिए

राष्ट्रपति राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने सैन्य काफिले पर हुए आतंकी हमले को कायराना हरकत करार दिया और कहा कि कड़ी जवाबी कार्रवाई किए जाने की जरूरत है। मुर्मु ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा- 'मेरी संवेदनाएं उन बहादुरों के परिवारों के साथ हैं जिन्होंने आतंकवाद के खिलाफ चल रही इस लड़ाई में अपना बलिदान दिया है। मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करती हूं।'

आतंकी गतिविधियों का केंद्र बना जम्मू क्षेत्र: कांग्रेस

कांग्रेस ने कहा कि कश्मीर घाटी के बाद अब जम्मू क्षेत्र आतंकवादी गतिविधियों का नया केंद्र बन गया है और सरकार को इसे गंभीरता से लेते हुए पर्याप्त कदम उठाने चाहिए। पार्टी सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि इस मामले पर सरकार को देश को भरोसे में लेना चाहिए कि वह आंतरिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए क्या कदम उठा रही है। उन्होंने कहा कि अब पाकिस्तान को उसके दुस्साहस के लिए जवाब देने का समय आ गया है। देश की सुरक्षा के लिए एक जिम्मेदार विपक्ष के रूप में हम सरकार के साथ हैं।

यह भी पढ़ें: मनीष तिवारी से लेकर उमर अब्दुल्ला तक... कठुआ आतंकी हमले पर विपक्ष ने केंद्र सरकार को घेरा, जानें किसने क्या कहा