शिलांग, प्रेट्र। सीबीआइ ने मेघालय ग्रामीण बैंक (एमआरबी) में हुए 14.34 करोड़ रुपये के घोटाले से जुड़े मामले में विभिन्न स्थानों पर छापेमारी की है। यह कार्रवाई बैंक के जनरल मैनेजर द्वारा गत 27 मार्च को दर्ज कराई गई शिकायत के आधार पर की गई। इसके तहत शहर के विभिन्न स्थानों सहित कुछ बाहरी इलाकों में भी छापे मारे गए।

सीबीआइ में दर्ज कराई गई शिकायत के मुताबिक एमआरबी के जनरल मैनेजर ने इदुह शाखा के मैनेजर पर लगभग 150 लोगों को गलत तरीके से लोन बांटने का आरोप लगाया है। सीबीआइ ने मंगलवार को आरोपितों के आवासों सहित बैंक के तत्कालीन शाखा प्रबंधक के घर पर छापेमारी की।

बैंक के मुख्य सतर्कता अधिकारी ने इस मामले में कमीशन और चूक के गंभीर मामलों का पर्दाफाश किया है। आरोप है कि लोन लेने वालों के साथ मिलकर तत्कालीन शाखा प्रबंधक ने कैश क्रेडिट, आवास लोन, जनरल क्रेडिट कार्ड, लघु व्यवसाय के लिए टर्म लोन सहित लघु व्यापार नकद ऋण आदि बांटे।

सीवीओ ने 114 उन लोगों की सूची भी प्रस्तुत की है, जिन्हें 14.33 करोड़ रुपये से अधिक के कर्ज बांटे गए, जो बाद में नॉन परफॉर्मिंग एसेट (एनपीए) में बदल गए। जिससे बैंक को नुकसान हुआ।

------------

------------

Posted By: Prateek Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप