नई दिल्ली, प्रेट्र। कोविड-19 ड्यूटी के दौरान अर्धसैनिक बल के जिन जवानों की मौत हुई है उनके परिजनों को 'भारत के वीर' कोष से 15 लाख रुपये की राशि दी जाएगी। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने हाल ही में इस निर्णय को मंजूरी दी है। गृह मंत्रालय ने अप्रैल 2017 में 'भारत के वीर' कोष की शुरुआत की थी।

अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि यह राशि ड्यूटी के दौरान जान गंवाने वालों के आश्रितों को केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) द्वारा दी जाने वाली लगभग एक करोड़ रुपये की अनुग्रह राशि के अलावा दी जाएगी। अब तक सीएपीएफ के कुल आठ जवान इस संक्रमण के कारण अपनी जान गंवा चुके हैं। सीआइएसएफ के चार जबकि सीआरपीएफ और बीएसएफ के दो-दो जवान के इस संक्रमण की भेंट चढ़ चुके हैं।

कई बलों को मिलाकर लगभग 10 लाख जवानों की एक संयुक्त शक्ति

सीएपीएफ या केंद्रीय अर्धसैनिक बल आंतरिक सुरक्षा कर्तव्यों और सीमा की रखवाली के लिए तैनात केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) , सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ), भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आइटीबीपी), केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआइएसएफ) और सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) में लगभग 10 लाख जवानों की एक संयुक्त शक्ति है।

देश में कम नहीं हो रहे कोरोना संक्रमण के मामले

कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा पांच हजार के करीब पहुंच गया है। पिछले कुछ दिनों से सामने आ रहे रिकॉर्ड नए मामलों के चलते संक्रमितों की संख्या भी पौने लाख से ज्यादा हो गई है। महाराष्ट्र, तमिलनाडु, दिल्ली, गुजरात के साथ ही बिहार, राजस्थान, हरियाणा और कर्नाटक जैसे राज्यों में तेजी से बढ़ते मामलों ने पूरे देश का गणित बिगाड़ दिया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, बीते 24 घंटे में देश में सबसे ज्यादा 7,964 नए मामले मिले हैं जबकि 265 लोगों की मौत हुई है। इसके साथ ही महामारी से अब तक मरने वालों की संख्‍या 4,971 जबकि संक्रमितों की संख्या 1,73,763 हो गई है।

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस