नई दिल्ली [जागरण स्पेशल]। विश्व कैंसर दिवस प्रतिवर्ष 4 फरवरी को मनाया जाता है। 1933 में अंतर्राष्ट्रीय कैंसर नियंत्रण संघ ने स्विट्जरलैंड में जिनेवा में पहली बार विश्व कैंसर दिवस मनाया गया था। यह दिवस कैंसर के बारे में जागरूकता बढ़ाने, लोगों को शिक्षित करने, इस रोग के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए दुनिया भर में सरकारों और व्यक्तियों को समझाने तथा हर साल लाखों लोगों को मरने से बचाने के लिए मनाया जाता है।

कैंसर एक खतरनाक और जानलेवा बीमारी है। सेल्‍स की अनियंत्रित वृद्धि के कारण कैंसर होता है। मुंह का कैंसर, पेट का कैंसर, सर्वाइकल कैंसर, ब्रेस्‍ट कैंसर, टेस्टिकुलर कैंसर आदि कैंसर के प्रमुख प्रकार हैं। कैंसर का पता अगर शुरूआती स्‍टेज में चल जाए तो इसका इलाज संभव है।

लेकिन यदि आप नियमित रूप से स्‍वस्‍थ और पोषणयुक्‍त आहार का सेवन कर रहे हैं तो कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी आपसे दूर रहेगी। कैंसर के मरीज अपनी डाइट चार्ट में इन आहार को शामिल कर कैंसर की जटिलता को कम कर सकते हैं। आइए हम आपको कैंसर से बचाने वाले आहार के बारे में जानकारी देते हैं।

जानिए क्या है कैंसर
जन्म से लेकर मृत्यु तक व्यक्ति की कोशिकाओं में कई तरह के बदलाव आते हैं। पुरानी कोशिकाएं खत्म हो जाती हैं और नई कोशिकाएं यानि सेल्स जन्म लेते हैं। हमारे शरीर में रेड और व्हाइट दो तरह के सेल्स होते हैं जो शरीर को सुचारू रूप से चलाने का काम करते है। मगर कैंसर होने की स्थिति में यह सेल्स जरूरत से ज्यादा बढ़ने लगते हैं। इससे ही शरीर में कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी जन्म लेती है।

कैंसर के प्रकार
कैंसर भी कई तरह के होते हैं जैसे त्वचा का कैंसर, ब्लड कैंसर, हड्डियों का कैंसर, ब्रेन कैंसर, स्तन कैंसर, फेफड़ों, गले, मुंह का कैंसर, पैनक्रियाटिक कैंसर इत्यादि।

कैंसर से बचाने वाले खाद्य-पदार्थ-
अदरक
अदरक में पाये जाने वाले एंटी-ऑक्‍सीडेंट्स कैंसर के सेल्‍स से लड़ते हैं। नियमित रूप से अदरक खाने से कैंसर होने की संभावना कम होती है। इसके अलावा अदरक कोलेस्ट्राल का स्तर कम करता है। यह खून का थक्का जमने से रोकता है। इसमें एंटी फंगल और कैंसर के प्रति प्रतिरोधी होने के गुण भी पाए जाते हैं।

लहसुन
लहसुन बहुत महत्‍वपूर्ण औषधि है। लहसुन में एलियम नामक एंटीबायोटिक होता है जो कैंसर होने से बचाता है। लहसुन कई रोगों में भी फायदेमंद है। नियमित लहसुन खाने से ब्लडप्रेशर कम या ज्यादा होने की बीमारी नहीं होती। गैस्टिक ट्रबल और एसिडिटी की शिकायत में इसका प्रयोग बहुत ही लाभदायक होता है। लहसुन की पांच कलियां खाने से दिल की बीमारी नही होती।

आंवला
आंवला विटामिन-सी का एक बहुत अच्छा स्रोत है। एक आंवला में 3 संतरों के बराबर विटामिन-सी होता है। आंवला कैंसर से बचाता है। आंवला खाने से लीवर को शक्ति मिलती है जिससे लीवर हमारे शरीर से टॉक्सिन्‍स को बाहर निकालता है। आंवले का जूस खून को साफ करता है। इसके अलावा यह कई अन्‍य रोगों के लिए भी फायदेमंद है।

ग्रीन टी
ग्रीन टी में पोलीफिनॉल पाया जाता है, यह एंटी-ऑक्‍सीडेंट है जो कैंसर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोकता है। चीनी के बिना चाय पीना सबसे अच्छा होता है, लेकिन अगर आप अपनी चाय को मीठा करना चाहते हैं तो इसमें शहद या मेपल सिरप की तरह एक न्यूनतम प्रसंस्कृत स्वीटनर का उपयोग करने का प्रयास कीजिए।

मशरूम
मशरूम भी कैंसर से बचाता है और प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है। इसमें बीटा-ग्‍लूकण पाया जाता है। मशरूम में प्रोटीन भी होता है जिसे लेक्टिन कहते हैं। लेक्टिन कैंसर कोशिकाओं पर हमला करता है और उन्हें बढ़ने से रोकता है। मशरूम शरीर में इंटरफेरॉन के उत्पादन को प्रोत्साहित कर सकते हैं।

ब्लूबेरी
डार्क-स्‍क्रीन फलों (स्ट्रॉबेरी, अंगूर आदि) में एंटीऑक्‍सीडेंट होता है। जामुन शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसे अपने आहार में शामिल कर आप कैंसर के खतरे को कम कर सकते हैं।

फलियां
फलियों में उच्च फाइबर और प्रोटीन होता है, जो कोशिकाओं की रक्षा करने में मदद करते हैं। सेम, कैंसर कोशिकाओं द्वारा किए जा रहे हमले से स्वस्थ कोशिकाओं की रक्षा करता है और साथ-साथ धीमी गति से हो रहे ट्यूमर के विकास को रोकने में भी मदद करता हैं। किसी इसके अलावा गाजर, स्क्वैश, अंडे, डेयरी उत्पाद, ब्रोकोली, फूलगोभी आदि को अपने आहार में शामिल करके कैंसर होने की संभावना को कम किया जा सकता है।

Posted By: Sanjay Pokhriyal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप