नई दिल्ली। केंद्र में भाजपा नीत एनडीए सरकार के गठन के साथ ही देश में गौ हत्या के खिलाफ देशभर में पूर्ण प्रतिबंध की मांग ने जोर पकड़ना शुरू कर दिया है। सूत्रों के अनुसार महाराष्ट्र में गौ हत्या के खिलाफ सख्त कानून लाने तथा हरियाणा व राजस्थान विधानसभा में बिल लाने की तैयारी के बाद भाजपा शासित अन्य राज्यों में भी ऐसा ही कानून लाए जाने की संभावना बढ़ गई है।

भाजपा के गौवंश विकास सेल के संयोजक मयंकेश्वर सिंह ने बताया कि पार्टी सभी राज्यों में गौ हत्या पर प्रतिबंध के पक्ष में हैं। उन्होंने कहा कि इस साल बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी के घोषणा पत्र में गौ हत्या पर पूर्ण प्रतिबंध के वादे को भी शामिल किया जाएगा। भाजपा के वरिष्ठ नेता के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने अगस्त 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलकर केंद्रीय स्तर पर कानून लाए जाने की मांग की थी।

मयंकेश्वर सिंह ने कहा कि भाजपा देश भर में गौ हत्या पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने को लेकर प्रतिबद्ध है लेकिन वह केंद्रीय स्तर पर कानून को लेकर दवाब नहीं बनाएगी। उन्होंने कहा कि यह एक संवेदनशील मुद्दा है और इस पर हम अाम सहमति बनाने की कोशिश करेंगे।

उन्होंने कहा कि 1996 में भाजप नीत सरकार द्वारा ऐसा ही कानून लाने की घोषणा के कारण पार्टी को राजनीतिक अलगाव का सामना करना पड़ा था इसलिए पार्टी इस मुद्दे पर पूरी तरह सर्तक है। हम नहीं चाहते कि इस मुद्दे पर केवल सरकार फैसला करे, बल्कि इसमें तमाम दलों को शामिल किया जाना चाहिए।

पढ़ें : तृणमूल सांसद डेरेक ओ ब्रायन बोले, 'गरीबों का प्रोटीन है गोमांस'

पढ़ें : गोवंश हत्या पर पाबंदी को न बनाएं धार्मिक व प्रतिष्ठा का मुद्दा: कोर्ट

Edited By: Sanjay Bhardwaj