नई दिल्ली, आइएएनएस। Bird Flu in India, देश में आ रहे बर्ड फ्लू के मामलों के बीच राष्ट्रीय खाद्य प्राधिकरण ने एक जरूरी निर्देश जारी किया है। भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआइ) ने कहा है कि पॉल्ट्री के चिकन और अंडे को अच्छी तरह से पकाकर खाने में किसी तरह का खतरा नहीं है। प्राधिकरण ने कहा है कि पकाने के बाद बर्ड फ्लू के वायरस निष्कि्रय हो जाते हैं। देश में बर्ड फ्लू को लेकर अंडे और चिकन खाने को लेकर भय और आशंका का माहौल बना हुआ है। ऐसे में एफएसएसएआइ ने एक निर्देशिका जारी की है, जिसमें कहा गया है कि पॉल्ट्री के चिकन और अंडे को किस तरह बनाए और खाएं।

निर्देशिका में कहा गया है कि अंडे और चिकन को अच्छी तरह से पकाने पर उसमें मौजूद बर्ड फ्लू का वायरस निष्क्रिय हो जाता है। यह भी कहा गया है कि बर्ड फ्लू से प्रभावित इलाकों के पॉल्ट्री के चिकन और अंडे को कच्चा या अधपका नहीं खाना चाहिए। 

अब तक नौ राज्यों में फैला बर्ड फ्लू

सरकार के मुताबिक, देश के 9 राज्यों में बर्ड फ्लू के केस आए हैं। केंद्र सरकार के मुताबिक अभी तक देश के नौ राज्यों के पॉल्ट्री फार्म के पक्षियों में बर्ड फ्लू फैल चुका है जबकि 12 राज्यों में कौओं, प्रवासी पक्षियों और जंगली पक्षियों में ये बीमारी फैली है।  मत्स्यपालन, पशुधन और डेयरी मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि 23 जनवरी तक नौ राज्यों- केरल, हरियाणा, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसग़़ढ, उत्तराखंड, गुजरात, उत्तर प्रदेश और पंजाब में पॉल्ट्री फार्म के पक्षियों में बर्ड फ्लू ([एवियन इंफ्लूएंजा)] की पुष्टि हुई है। वहीं, देश के 12 राज्यों में कौओं, प्रवासी पक्षियों और जंगली पक्षियों में एवियन इंफ्लूएंजा की पुष्टि हुई है।

मंत्रालय ने आगे बताया कि इन 12 राज्यों में मध्य प्रदेश, हरियाणा, महाराष्ट्र, छत्तीसग़़ढ, हिमाचल प्रदेश, गुजरात, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, दिल्ली, राजस्थान, जम्मू-कश्मीर और पंजाब शामिल हैं। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप