मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली जागरण संवाददाता। पूर्व एयर होस्टेस गीतिका शर्मा की मां अनुराधा शर्मा खुदकुशी मामले में कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं, जिससे पुलिस ने सभी पहलुओं पर जांच शुरू कर दी है। पता चला है कि अनुराधा ने सुसाइड नोट के साथ-साथ अपने बेटे के नाम पत्र भी लिखा था। इस पत्र में उसने कांडा को सख्त सजा दिलवाने की बात कही है। साथ ही सुसाइड नोट में अनुराधा ने गोपाल कांडा के नाम से पूर्व गाली का इस्तेमाल किया और लिखा कि उसने और अरुणा चढ्डा ने हमारे घर को तोड़ा है। उन्हें सख्त से सख्त सजा मिले।

अनुराधा ने पत्र में कांडा और अरुणा को बहुत बुरा-भला कहा है। उसने पत्र में लिखा है कि जबसे गीतिका ने आत्महत्या की है, तब से मैं सामान्य जीवन नहीं जी पाई। मेरी बेटी की मौत का जिम्मेदार गोपाल कांडा और अरुणा चड्ढा थे। अब उसी वजह से मैं भी मर रही हूं।

अशोक विहार थाना पुलिस का मानना है कि अनुराधा बेहद साहसी थीं, इसलिए उनके खुदकुशी करने की वजह निश्चित रूप से मानसिक दबाव रहा होगा। इसके मद्देनजर पुलिस ने अनुराधा, उनका पति दिनेश कुमार शर्मा व बेटे अंकित के मोबाइल का कॉल डिटेल निकलवा जांच शुरू कर दी ताकि उससे यह पता लगाया जा सके कि इन तीनों के पास किन-किन लोगों के फोन आते थे। ये किन-किन लोगों से बात करते थे।

सूत्रों की मानें तो गीतिका की मौत के बाद दिल्ली व हरियाणा के कुछ पुलिस अफसर व प्रभावशाली लोग अनुराधा व उनके पारिवार पर हरियाणा के पूर्व मंत्री गोपाल कांडा के खिलाफ दर्ज कराए केस वापस लेने के लिए दबाव बना रहे थे। इससे पूरे परिवार के लोग परेशान थे। शायद यही उनके खुदकुशी करने की वजह रही हो। फिलहाल पुलिस उपायुक्त डॉ. पी करुणाकरण इस तरह की बात से इन्कार कर रहे हैं।

अनुराधा द्वारा लिखे गए दो पन्ने के सुसाइड नोट का मजमून देखने से माना जा रहा है कि उनके दिल में गोपाल कांडा व अरुणा चड्ढा को लेकर काफी नफरत थी। उन्होंने सुसाइड नोट में लिखा है कि मेरी बेटी की मौत के लिए कांडा व अरुणा चड्ढा जिम्मेदार है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप