नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। चौदह साल की किशोरी के पास दो साल की मासूम बच्ची कोमल [परिवर्तित नाम] को लाने वाला और मानव तस्करी व सैक्स रैकेट के इस मामले की महत्वपूर्ण कड़ी राजकुमार उर्फ मुहम्मद दिलशाद अहमद उर्फ बबलू को शनिवार तड़के नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार कर लिया गया। पटना से भी मामले में आरोपी मनोज की पत्नी प्रतिमा को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। राजकुमार के हाथ आने से पहले कोमल प्रतिमा के पास थी।

पुलिस के मुताबिक पिछले साल 12 अक्टूबर को मनोज से कोमल को लेकर राजकुमार दिल्ली द्वारका सेक्टर-16 स्थित कच्ची कॉलोनी में अपने घर गया। वहां पत्‍‌नी से झगड़ा होने पर राजकुमार कुछ दिन बाद कोमल को लेकर महिपालपुर गांव आ गया, जहां उसने 14 साल की किशोरी को किराए के मकान में रखा था। कुछ दिन साथ रहने के बाद 13 जनवरी को वह किशोरी व कोमल को छोड़कर मुंबई चला गया। कोमल को चोट लगने के कारण 18 जनवरी को किशोरी दिल्ली के एम्स ट्रॉमा सेंटर में भर्ती करा फरार हो गई थी। 26 जनवरी को मामला प्रकाश में आया। पुलिस राजकुमार को पकड़ने में लग गई।

पुलिस ने दावा किया था कि बच्ची की मां की एक महिला ने धोखे से दूसरी शादी करा दी थी और उसके तीन बच्चों को अन्य लोगों को सौंप दिया था। रविवार को उस आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया गया था। पुलिस ने मामले में कुल 10 लोगों को गिरफ्तार किया है। इस बीच बच्ची को सांस लेने में दिक्कत होने के बाद उसे फिर से वेंटिलेटर पर रख दिया गया है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट