नई दिल्ली [जागरण स्पेशल]। Ayodhya Case Verdict 2019 Photos: सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पल-पल  अयोध्या की तस्वीर भी बदलती रही। हनुमान गढ़ी और अन्य जगह पर मौजूद साधुओं ने भी सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का स्वागत किया। एहतियात के तौर पर आरएएफ की टीम ने कई इलाकों में फ्लैग मार्च भी किया। सुप्रीम कोर्ट में 40 दिन लगातार चली सुनवाई के बाद पूरे देश को वर्षों से चल रहे अयोध्या केस पर फैसला सुनाया। कैमरे की नजर से देखें फैसला आने से पहले और उसके बाद की तस्वीरें...

कलेक्ट्रेट स्थित जिला अधिकारी कार्यालय में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का अध्ययन करते उपसंचालक चकबंदी तरुण मिश्र की अध्यक्षता में शासकीय अधिवक्ता गण।

हाजी महबूब के घर पहुंचे डीएम। मीडिया को किया गया बाहर, एसएसपी आशीष तिवारी भी रहे मौजूद। यहां पर डीएम एसएसपी का कुछ भी बताने से किया इंकार।

जिले की सीमा राम सनेही घाट पुल पर चेकिंग के बाद ही वाहन अयोध्या में पा रहे प्रवेश। बड़े वाहन रोके गए। रैपिड एक्शन फोर्स व पुलिस मौजूद।

Ayodhya Case Verdict 2019 News Highlights:

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद फैजाबाद के जनसेवा केंद्र में सुप्रीम कोर्ट के आदेश का निकाला जा रहा प्रिंट। 

बाबरी मस्जिद पक्षकार हाजी महबूब ने जनता से सौहार्द बनाने की अपील की, मुस्लिमों को 5 एकड़ जमीन देने के फैसले पर जाताया असंतोष। फैसला आने के बाद पुलिस ने पेट्रोलिंग की गति बढ़ाई।

श्री स्वामी मणिराम दास जी महाराज की छावनी मंदिर के सामने तिवारी मंदिर के महंत पंडित गिरजेश पति त्रिपाठी व अन्य साधु संत सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का स्वागत करते हुए।

अयोध्या में हनुमानगढ़ी दर्शन करने आए श्रद्धालु ने सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का स्वागत किया।

निर्मोही अखाड़ा के महंत स्वामी देवेंद्र दास जी ने सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का स्वागत किया पर उन्होंने कहा कि निर्मोही अखाड़े का दावा खारिज होने पर पंच बैठेंगे और उस पर विमर्श करके मंथन करेंगे पर उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने माना है कि राम जन्मभूमि अयोध्या में है इस पर कोई विवाद नहीं है इससे बढ़कर और कोई बात हमारे लिए नहीं हो सकती।

अयोध्या छोटी छावनी परिसर में हवन पूजन करते श्रद्धालु जय श्री राम का उद्घोष करते साधु संत।

इकबाल अंसारी के घर में मौजूद मीडिया कर्मी इस समय इकबाल अंसारी अंदर घर मे हैं।

अयोध्या : बाबरी मस्जिद के पक्षकार हाजी महबूब के घर का दृश्य।

अयोध्या : मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी अपने आवास के भीतर। बाहर सुरक्षा के सख्त इंतज़ाम।

बाबरी मस्जिद के मुद्दई मोहम्मद इकबाल अंसारी घर व दरवाजे पर मौजूद मीडियाकर्मी।

हालांकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत तमाम बड़े नेता और धार्मिक गुरू लोगों से शांति बनाए रखने और फैसले को खुले दिल से स्वीकार करने की अपील कर चुके हैं। तस्वीरों में देखें अयोध्या केस पर ऐतिहासिक फैसला आने से ठीक पहले फैजाबाद, उत्तर प्रदेश समेत पूरे देश में कैसा माहौल है।

सुप्रीम फैसले से ठीक पहले कड़े सुरक्षा पहरे में अयोध्या में उत्सुकता चरम पर पहुंच गई है। लोग टीवी से चिपके हुए हैं। शहर का माहौल शांत पर कौतूहल से भरा है रामनगरी की ओर जाने वाले हर नाके पर सुरक्षा बलों की कड़ी चौकसी भी है। 

 

अयोध्या के मुख्य द्वार पर पहचान पत्र देखकर लोगों को जाने दे रहे हैं।

रोडवेज बस अड्डे पर 10:30 बजे सुबह का सन्नाटा।

अयोध्या हनुमानगढ़ी दर्शन करने पहुंचे श्रद्धालु।

नेशनल हाइवे लखनऊ गोरखपुर पर पसरा सन्नाटा।

सहादतगंज के पास फोरलेन पर पुलिस एक्शन मोड़ में।

अयोध्या के सहादत गंज फ्लाईओवर के समीप सुबह 9:00 बजे सवारी का इंतजार करते लोग।

अयोध्या की टेढ़ी बाजार से राम जन्मभूमि अशर्फी भवन की तरफ जाने वाले मार्ग को किया बंद।

अयोध्या स्थित अपने घर के बाहर लोगों से बातचीत करते हैं मोहम्मद इकबाल।

अयोध्या के मुख्य द्वार पर पहचान पत्र देखकर लोगों को जाने दे रहे हैं।

अयोध्या स्थित श्री राम अस्पताल के पास नहीं जाने दिया जा रहा है। लोगों को वाहन का प्रवेश प्रतिबंधित है आई कार्ड दिखाकर पैदल जाने दिया जा रहा है लोग।

अयोध्या के सरयू तट के पास सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते मंडलायुक्त मनोज में आईजी रेंज राजीव कुमार गुप्ता।

अयोध्या नयाघाट पर प्रसाद खरीदारी करती महिलाएं।

अयोध्या दर्शन करने पहुंची यूरोपियन महिलाएं।

अयोध्या दर्शन कर वापस जाती श्रद्धालु।

यह भी पढ़ें: 
Ayodhya cash Vardict 2019: सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद भी बनें रहेंगे दो विकल्प
Ayodhya Case Verdict 2019 : तारीखों के आईने में जानिए अयोध्या मामला, जानिए कब-कब क्या हुआ?

Posted By: Sanjay Pokhriyal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप