जोधपुर (जागरण न्यूज नेटवर्क)। नाबालिग से दुष्कर्म के केस में आसाराम के खिलाफ जोधपुर की अदालत आज फैसला सुनाएगी। जैसे-जैसे फैसले की घड़ी नजदीक आ रही है, आसाराम की बेचैनी बढ़ती जा रही है। जोधपुर सेंट्रल जेल में कैद यह कथावाचक बीती रात सो न सका। उसने खाना भी नहीं खाया। उसका खाना आश्रम से आता है, जिसे उसने खाने से इन्कार कर दिया। वह अपनी बैरक में यहां-वहां टहलता रहा। कुछ देर सुरक्षाकर्मियों से बात की।

इससे पहले आसाराम के खिलाफ दुष्कर्म मामले में जोधपुर कोर्ट में फैसला आने के मद्देनजर केंद्र सरकार ने राजस्थान, गुजरात और हरियाणा को सुरक्षा कड़ी करने को कहा है। साथ ही, अतिरिक्त बल तैनात करने को कहा है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने एडवाइजरी जारी कर तीन राज्यों में सुरक्षा बढ़ाने और फैसले के बाद हिंसा की कोई भी घटना ना होने देना सुनिश्चित करने को कहा है। तीनों राज्यों को संवेदनशील स्थानों पर अतिरिक्त बल तैनात करने का भी निर्देश दिया गया है। गौरतलब है कि राजस्थान, गुजरात और हरियाणा में धर्मगुरू आसाराम के बड़ी तादाद में शिष्य हैं।

गृह मंत्रालय तीनों राज्यों के संपर्क में है। केंद्रीय गृह सचिव राजीव गौबा ने इस मुद्दे पर वरिष्ठ प्रशासनिक अफसरों और पुलिस अधिकारियों से बातचीत की है। राजस्थान हाईकोर्ट के निर्देशानुसार बुधवार को सुनवाई अदालत जोधपुर के केंद्रीय कारागार के परिसर में ही फैसला सुनाएगी।

मप्र, उप्र, राजस्थान से जुड़ा है 15 अगस्त, 2013 का केस

पीड़िता ने जब आसाराम पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए थे तब वह छिंदवाड़ा आश्रम के कन्या छात्रावास में 12वीं कक्षा में पढ़ती थी। जानकारी के अनुसार पीड़िता के पिता के पास 7 अगस्त,2013 को छिंदवाड़ा आश्रम से फोन आया कि उनकी बेटी बीमार है। इस पर पीड़िता के पिता वहां पहुंचे तो उन्हे बताया गया कि उनकी बेटी पर भूत-प्रेत का साया है, जिसे सिर्फ आसाराम ही ठीक कर सकते हैं। पीड़िता के माता-पिता अपनी बेटी के साथ 14 अगस्त को आसाराम से मिलने जोधपुर आश्रम में पहुंचा। इसके अगले दिन 15 अगस्त को आसाराम पे 16 साल की पीड़िता को अपनी कुटिया में बुला लिया और उसके साथ 1 घंटे तक यौन उत्पीड़न किया।

पीड़िता ने इस मामले की जानकारी अपने माता-पिता को दी तो उन्होंने 20 अगस्त,2013 को दिल्ली कमलानगर पुलिस थाने में रात 2 बजे एफआरआर दर्ज कराई थी। मामला जोधपुर ट्रांसफर कर दिया गया। जोधपुर पुलिस ने जांच के बाद आसाराम को 30 अगस्त की आधी रात इंदौर स्थित आश्रम से गिरफ्तार किया था।

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने ऐहतियातन यह एडवाइजरी जारी की है। चूंकि पिछले साल डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम के खिलाफ दुष्कर्म मामले में विशेष अदालत के फैसला सुनाने पर हरियाणा और पंजाब में बड़े पैमाने पर हिंसा हुई थी। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस