नई दिल्ली, पीटीआइ। निवर्तमान मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमणियन ने एनपीए की समस्या को पहचानने के लिए रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन की तारीफ की है। उन्होंने इनसे निपटने की दिशा में राजन के कदमों की भी सराहना की। सुब्रमणियन भाजपा के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी की अध्यक्षता वाली वित्तीय अनुमान पर गठित संसदीय समिति के समक्ष प्रस्तुत हुए थे।

सूत्रों के मुताबिक, मुख्य आर्थिक सलाहकार बैंकरों के इस दावे से सहमत नहीं हैं कि फंसे कर्जो यानी एनपीए की समस्या एक-दो साल में सुलझ जाएगी। उन्होंने संकेतों के जरिये यह भी कहा कि बड़े लोन पास करने को लेकर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में हस्तक्षेप होता रहा है। हालांकि उन्होंने विस्तार से यह नहीं बताया कि हस्तक्षेप किस तरह से किया जाता था। उन्होंने बैंकरों के बीच डर की बात भी स्वीकार की।

मंगलवार को भी समिति ने चार घंटे बैठक की थी। इस दौरान वित्त सचिव हसमुख अढिया समेत वित्त मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों से बैंकिंग सेक्टर समेत पूरी अर्थव्यवस्था की स्थिति पर सवाल पूछे गए। समिति ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की बोर्ड बैठकों की विस्तृत जानकारी भी मांगी है। उन बैठकों की जानकारी मांगी गई है, जिनमें बड़े लोन को मंजूरी दी गई।

Posted By: Tilak Raj

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप