नई दिल्ली, एएनआइ। सेना के सूत्रों के बताया कि उत्तरी कश्मीर के विभिन्न स्थानों पर सेना के जवान हिमस्खलन की चपेट में आ गए हैं। ताजा जानकारी के मुताबिक, पिछले 48 घंटों में भारी बर्फबारी के कारण उत्तरी कश्मीर के इलाकों में कई हिमस्खलन हुए हैं जिसके बाद कई सैनिकों को बचाया गया है। हालांकि, तीन  सैनिकों को अपनी जान गंवानी पड़ी है जबकि एक अब भी लापता है। 

160 लोगों को बचाया

गुजरात के लोगों का एक दल कश्मीर घुमने गया था, लेकिन भारी बर्फबारी के कारण ये लोग दक्षिण कश्मीर के काजीगुंड में फंस गए। भारी बर्फबारी के कारण फंसे गुजरात के 160 लोगों के लिए पुलिस मसीहा बनकर आई। पुलिस ने अभियान चलाकर सभी लोगों को सुरक्षित निकाल उन्हें मां वैष्णो देवी के दर्शनों के लिए भेज दिया।

बता दें कि राजौरी और पुंछ दोनों जिलों में पिछले 36 घंटों से बारिश और बर्फबारी जारी है। इससे कई सड़कें बंद हो गई हैं, जिससे लोगों का जीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। राजौरी और पुंछ दोनों जिलों में, शनिवार की देर शाम से भारी वर्षा शुरू हुई और सोमवार शाम तक लगातार जारी रही। खराब मौसम की स्थिति के कारण कई मार्गों पर वाहनों की आवाजाही ठप हो गई है। जानकारी के अनुसार, थन्ना मंडी सुरनकोट सड़क डीकेजी में भारी बर्फ गिरने के कारण बंद है, कंडी खब्बास रोड कंडी गली में बर्फ गिरने के कारण बंद है, कंडी जमोला रोड, सुरनकोट में बुफलेयाज मार्ग, सब्जियां सड़क मार्ग सहित अन्य कई मार्ग भी बंद हो गए है।

डीएसपी ट्रैफिक मुहम्मद जुबैर मिर्जा ने बताया कि फिसलन की स्थिति के कारण कुछ अन्य सड़कें बंद पड़ी हैं। हालांकि अन्य सभी सड़कों पर यातायात सुचारू रूप से चल रहा है, जिसमें विशेष रूप से जम्मू पुंछ राजमार्ग शामिल है। दूसरी ओर भूस्खलन से राजौरी कंड बुद्धल मार्ग सोमवार दोपहर ढाई घंटे तक बंद रहा।

Posted By: Nitin Arora

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस