तेजपुर, प्रेट्र। असम के सोनितपुर जिले में आर्मी ने गुरुवार को एक फ्लैग मार्च निकाला। दरअसल, यहां राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन के मौके पर खुशी का इजहार करते हुए बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने बाइक रैली निकाली और तेज आवाज में गाना बजाने के साथ नारे लगा हुए 'भोरा सिंगोरी मंदिर' की ओर जा रहे थे तभी स्थानीय लोगों द्वारा इन्हें रोकने और कोविड-19 के मद्देनजर सामूहिक आयोजन पर सवाल किया जिसके बाद झड़प हो गई।

घटना के तुरंत बाद मौके पर पहुंचे सोनितपुर के डिस्ट्रिक्ट डिप्टी कमिश्नर मानवेंद्र प्रताप सिंह की गाड़ी को भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया । हालात को काबू में करने के लिए पुलिस ने पहले लाठीचार्ज किया और फिर हवा में फायरिंग की। बाइकों व परिवहनों में आग लगाए जाने की घटना के बाद इलाके में अतिरिक्त सुरक्षाबलों को तैनात कर दिया गया। डिस्ट्रिक्ट डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि इस रैली के लिए किसी तरह की अनुमति नहीं ली गई है।

बजरंग दल के कार्यकर्ताओं द्वारा अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की खुशी में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं द्वारा बाइक रैली का आयोजन किया गया था। अधिकारियों ने बताया कि जिले के थेलामारा और ढेकियाजुली पुलिस स्टेशनों अनिश्चितकाल के लिए कर्फ्यू लागू था। सोनितपुर के अतिरिक्त सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस नुमल महता ने प्रेट्र को बताया कि आर्मी के जवानों ने जिला प्रशासन के आग्रह पर फ्लैग मार्च निकाला। हमने पूछताछ के लिए दो लोगों को पहले ही हिरासत में ले लिया है। उन्होंने बताया, 'बीती रात से किसी तरह की घटना की खबर नहीं है। हालात पूरी तरह नियंत्रण में है।' महता ने आगे बताया कि दोनों ओर से करीब दस लोग जख्मी हैं।'

बजरंग दल ने दावा किया है कि इसके करीब 12 कार्यकर्ता घायल हो गए हैं। इस बीच सूत्रों ने बताया कि अतिरिक्त डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस, ज्ञानेंद्र प्रताप सिंह को हादसे के इलाके का मुआयना करने को कहा गया है और वे इसके लिए रवाना हो चुके हैं। सोनितपुर के सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस मुग्धाज्योति देव महंता भी बुधवार शाम से घटनास्थल पर ही हैं।T

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस