नई दिल्ली, एएनआइ। पूर्वी लद्दाख सेक्टर में चीन के साथ चल रहे तनाव के बीच सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने भारतीय सैनिकों का हौसला अफजाई किया। नरवणे ने कहा कि पूरा देश इस समय सेना की ओर देख रहा है, ऐसे में हर एक परिस्थितियो में हमें (भारतीय सेना) जोश और देशभक्ति दोनों के साथ काम करने की आवश्यकता है।

बता दें कि सेना प्रमुख नरवणे दो दिवसीय दौरे पर लद्दाख पहुंचे हुए थे। दो और तीन सितंबर को वो लद्दाख सेक्टर में थे, जहां उन्होंने सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की। भारतीय और चीनी सेनाएं तीन महीन से अधिक समय से गतिरोध एवं तनाव की स्थिति में हैं। 

जुनून के साथ-साथ धैर्य और आत्म नियंत्रण में काम करना है आवश्यक

समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार भारत चीन सीमा के पास सैनिकों को संबोधित करते हुए सेना प्रमुख ने सैनिकों से कहा कि देश के लोगों की नजरें हम पर टिकी हैं। लद्दाख सेक्टर में विभिन्न अभियानों में सैनिकों के योगदान की प्रशंसा करते हुए सेना प्रमुख ने कहा कि सैनिकों को जुनून के साथ-साथ धैर्य और आत्म-नियंत्रण के साथ काम करना आवश्यक है। सेना प्रमुख ने कहा कि जोश के साथ तुमको धीरज और संयम से काम लेना है।

चीन की हरकतों पर रखी जा रही है पैनी नजर

समाचार एजेंसी एएनआइ को दिए खास इंटरव्यू में सेना प्रमुख ने शुक्रवार को कहा था कि वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर स्थिति 'थोड़ी तनावपूर्ण है, जिसके कारण भारत की सुरक्षा और अखंडता की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सेना तैनात की गई है। इसके साथ ही थलसेना प्रमुख ने कहा था कि वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन की हरकतों को देखते हुए सुरक्षा को पुख्ता बनाने के लिए हर संभव कदम उठाए गए हैं। ऐसे में हर हाल में सुरक्षा की स्थिति बरकरार रहेगी। 

गौरतलब है कि चीन द्वारा पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर यथास्थिति को एकतरफा बदलने की विफल कोशिशों के कारण हालात तनावपूर्ण हैं। चीन की हरकतों को देखते हुए भारत ने इस क्षेत्र में अतिरिक्त बल और हथियारों की तैनाती को बढ़ाया गया है।

जीतेगा भारत हारेगा कोरोन

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस