अहमदाबाद,पीटीआइ। उद्योगपति अनिल अंबानी के रिलायंस ग्रुप ने विवादित राफेल फाइटर जेट सौदे पर एक लेख को लेकर कांग्रेस नेताओं और नेशनल हेराल्ड अखबार के खिलाफ अहमदाबाद की अदालत में दायर 5,000 करोड़ रुपये के मानहानि के मुकदमे को वापस लेने का फैसला किया है। रिलायंस के वकील रशेष पारिख ने साफ कर दिया है कि वो मुकदमा वापस लेने जा रहे हैं और इस बारे में नेशनल हेराल्ड के वकील पी एस चंपानेरी को भी बता दिया गया है। 

चंपानेरी ने कहा कि केस को वापस लेने की औपचारिक प्रक्रिया, गर्मी की छुट्टी के बाद अदालत में फिर से शुरू की जाएगी। बता दें कि जिन कांग्रेस नेताओं पर अनिल अंबानी के स्वामित्व वाली Reliance Group ने मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया था, उनमें सुनील जाखड़, रणदीप सिंह सुरजेवाला, ओमान चेंडी, अशोक चह्वाण, अभिषेक मनु सिंघवी, संजय निरूपम और शक्तिसिंह गोहिल शामिल थे। गौरतलब है कि इस मामले में कुछ पत्रकारों व नेशनल हेराल्ड के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कराया गया।

बता दें कि समाचार पत्र ने राफेल विमान करार को लेकर फर्जी और अपमानजनक लेख प्रकाशित किए थे। रिलायंस डिफेंस, रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर और रिलायंस एयरोस्ट्रक्चर ने एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड, नेशनल हेराल्ड के पब्लिशर, एडिटर इंचार्ज जफर आगा और लेख के लेखक विश्वदीपक के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया था। यह मुकदमा उनपर पिछले साल 26 अगस्त को दर्ज किया गया था।

अनिल अंबानी ने आरोप लगाया था कि मोदी के राफेल सौदे के एलान से 10 दिन पहले अनिल अंबानी ने रिलायंस डिफेंस शीर्षक नामक कंपनी बनाई, यह लेख झूठ और अपमानजनक है। यह लेख जनता को गुमराह करने वाला है। यह रिलायंस समूह और चेयरमैन अनिल अंबानी की नकारात्मक छवि को प्रदर्शित करता है और इसका जनता के मन पर गलत असर पड़ेगा।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitin Arora

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप