अमरावती, एजेंसी। आंध्र प्रदेश के विजयनगरम में रोडवेज की एक बस चोरी का मामला सामने आया है। बस चोरी की वजह भी हैरान करने वाली है। आरोपी ने पुलिस को बस चोरी जो वजह बताई है वो अजीबो-गरीब है। बस चोरी की वारदात सोमवार रात की है।

आंध्र प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (एपीएसआरटीसी) की बस वांगरा मंडल हेडक्वार्टर से चोरी हो गई थी। पुलिस ने कई घंटों तक इसकी खोजबीन की। पुलिस ने बस को मंगलवार को कांदिसा गांव से बरामद कर लिया है।

पालाकोंडा डिपो की थी बस

एपीएसआरटीसी की ये बस पालाकोंडा डिपो की थी। चालक ने बस को सोमवार रात वंगारा मंडल हेडक्वार्टर में पार्क किया था। उसी जगह से बस चोरी हो गई थी। पुलिस के मुताबिक, छात्रों की विशेष बस राजम से गांव आई थी और छात्रों को छोड़ने के बाद चालक पीला बुज्जी वंगारा थाने के सामने छोड़ गया।

चालक ने अगली सुबह वहां देखा तो उसके होश उड़ गए। बस वहां से गायब थी। चालक ने फौरन इसकी जानकारी डिपो अधिकारियों को दी। अधिकारियों ने बस को ढूंढा, लेकिन सफलता नहीं मिली। बाद में पुलिस की मदद ली गई। वंगारा पुलिस थाने में बस चोरी की शिकायत दर्ज कराई गई।

कई घंटों चला खोजी अभियान

पुलिस ने एपीएसआरटीसी स्टाफ के साथ आसपास के गांवों में बस ढूंढने के लिए खोजी अभियान चलाया। कई घंटों की खोजबीन के बाद पुलिस को सूचना मिली की बस रेजिडी अमदलावलासा मंडल में मीसाला दोलापेटा में है। बस की लोकेशन पता चलने पर पुलिस अधिकारी फौरन वंगारा से वहां पहुंच गए। पुलिस ने बस से फिंगरप्रिंट्स लिए बस को वंगारा लाया गया।

चोर ने बताई वजह

बस चोरी के शक में पुलिस ने कुछ संदिग्धों को हिरासत में लिया। पूछताछ में एक शख्स बस चोरी की बात कबूल कर ली। बस चोरी करने वाले शख्स का नाम चौधरी सुरेश है। सुरेश ने चोरी की जो वजह बताई है वो हैरान करने वाली है। सुरेश ने बताया कि राजम से दूसरी बस से वंगारा पहुंचने के बाद उसे अपने गांव पहुंचने के लिए कोई साधन नहीं मिला। तभी उसे वहां एक बस खड़ी मिली, घर पहुंचने के लिए उसने बस चोरी की। आरोपी ने बताया कि इस घटना के वक्त वो नशे में था। पुलिस अधिकारी ने कहा कि उस व्यक्ति पर चोरी का मामला दर्ज किया गया है।

Edited By: Manish Negi