नई दिल्ली, रायटर्स। भारत समेत दुनिया भर में खुदकुशी के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। खुद को भीड़ से अलग दिखाने की होड़ में लोग अपनी खुदकुशी को भी नायाब तरीके से अंजाम दे रहे हैं। आलम ये है कि खुदकुशी के नए-नए तरीके तलाशने के लिए लोग इंटरनेट पर भी खूब सर्च करते हैं। ऐसे में इंटरनेट पर आत्महत्या (Suicide) सर्च कर रहे लोगों को ई-कॉमर्स कंपनी की तरफ से मदद की पेशकश की जा रही है।

आत्महत्या करने के इच्छुक लोगों या उसके बारे में इंटरनेट पर सर्च करने वालों को मदद की पेशकश ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन डॉट कॉम (Amazon.com) की तरफ से की जा रही है। न्यूज एजेंसी रायटर्स के अनुसार अमेजन कंपनी उन यूजर्स के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी करने पर भी विचार कर रही है, जो उसकी वेबसाइट पर Suicide के बारे में सर्च करते हैं। ये जानकारी खुद कंपनी की तरफ से गुरुवार को रायटर्स को दी गई है।

US में सुसाइड सर्च
कंपनी की वेबसाइट पर फिलहाल सुसाइड के बारे में सर्च करने पर यूजर्स को फांसी का फंदा और अन्य हानिकारक उत्पादों की खोज करने का सुझाव दिया जाता है। अमेरिका में पिछले सप्ताह अमेजन पर Suicide (आत्मत्या) सर्च किए जाने पर परिणाम स्वरूप इंटरनेट यूजर्स को Suicide Kits (आत्महत्या किट) और Nooses (फंदा) का विकल्प दिखा रहा था।

भारत में सुसाइड सर्च
भारत में भी अमेजन की वेबासाइट पर Suicide सर्च करने पर आपको नींद की गोली, कीटनाशक दवाईयों और 'How To Cummit Suicide' (कैसे करें आत्महत्या) और 'Kings of Poisons' (जहरों का राजा) नाम की किताबों जैसे तमाम विकल्प दिखाए जाते हैं। खास बात ये है कि वेबसाइट पर वो जहरीली दवाईयां और कीटनाशक आदि भी उपलब्ध हैं, जो बाजार में आसानी से या अनाधिकारिक तौर पर उपलब्ध नहीं है।

Amazon के खिलाफ बढ़ी शिकायतें
ऐसे में अमेजन कंपनी के खिलाफ शिकायतों और तकनीकी कंपनियों की विनियामक जांच (Regulatory Scrutiny) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इससे कंपनी को भी कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। इस तरह का सामान बेचने वाले व्यपारी बेरोक-टोक कंपनी की वेबसाइट पर प्रतिबंधित और अवैध सामानों को बिक्री के लिए सूचिबद्ध कर रहे हैं।

Amazon ने उठाया ये कदम
अंतरराष्ट्रीय मीडिया, सुरक्षा एजेंसियों व विनियामक जांच में मामला सामने आने के बाद अमेजन कंपनी ने How To Cummit Suicide किताब और फांसी के फंदे को सर्च रिजल्ट में नीचे कर दिया है। कंपनी के अनुसार वह अपनी वेबसाइट पर व्यापारियों को ऐसे गैर-मीडिया उत्पादों को बेचने से रोकती है, जो आत्महत्या को बढ़ावा दे या उसका महिमा मंडन करता है।

4000 से ज्यादा खतरनाक उत्पाद
पिछले सप्ताह वॉल स्ट्रीट जर्नल ने भी अमेजन कंपनी द्वारा 4000 से ज्यादा गैरकानूनी चीजें बेचने की खबर प्रमुखता से प्रकाशित की थी। इस खबर में बताया गया था कि कपनी की वेबसाइट पर 4000 से ज्यादा ऐसे उत्पाद हैं, जो भ्रामक अथवा अमेरिकी एजेंसियों द्वारा प्रतिबंधित व खतरनाक घोषित किए गए हैं। इसकी वजह से अमेजन पर यूएस समेत कई जगहों पर प्रतिबंधन की तलवार लटक रही है।

हेल्पलाइन जारी करेगी अमेजन
प्रतिबंध से बचने के लिए ही अमेजन अपनी वेबसाइट पर Suicide सर्च करने वालों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी करने पर विचार कर रही है। गूगल, फेसबुक और ट्विटर जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म ने पहले से ही आत्महत्या के बारे में सर्च करने वाले लोगों की मदद और उनकी जान बचाने के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी कर रखा है। हाल के महीनों में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों पर उपलब्ध हिंसक और खतरनाक सामग्री की छानबीन की गई। इंटरनेट के जरिए खुदकुशी को बढ़ावा देने के मामलो को लेकर पहले ही दुनिया भर में विवाद चल रहा है। अब नामी ई-कॉमर्स कंपनियों का नाम भी इस तरह के विवादों से जुड़ने लगा है।

अमेजन कंपनी का तर्क
मामले में अमेजन कंपनी का कहना है कि वह अपने उपभोक्ताओं से उप्पादों पर प्रतिक्रिया लेता है। इसके लिए प्रत्येक आइटम के विवरण पृष्ण के नीचे प्रतिक्रिया दर्ज कराने का विकल्प दिया गया है। यहां कोई भी उपभोक्ता उत्पाद को लेकर अपनी चिंता या शिकायत व्यक्त कर सकता है। कंपनी के अनुसार उसकी योजना है कि कुछ प्रोडक्ट्स की डिटेल के साथ सुसाइड हेल्पलाइन (अमेरिका की नेशनल सुसाइड प्रिवेंशन लाइफलाइन) को जोड़ा जाएगा। इसके जरिए ग्राहकों को सूचित किया जाएगा कि राष्ट्रीय आत्महत्या रोकथाम लाइफलाइन जैसे संगठनों से मुफ्त और गोपनीय मदद प्राप्त की जा सकती है।

अमेजन कंपनी ने न्यूज एजेंसी को बताया कि यह संदेश आने वाले सप्ताहों में ग्राहकों को आत्महत्या से संबंधित सर्च पर दिखेगा। अगले सप्ताह से संयुक्त राज्य अमेरिका और यूनाइटेड किंगडम में आत्महत्या से संबंधित किताबों व अन्य उत्पादों के विवरण पृष्ठों पर दिखाई देगा। उम्मीद की जा रही है कि अमेरिका के अलावा अमेजन भारत समेत अन्य देशों में भी आत्महत्या संबंधी सर्च पर उस देश का हेल्पलाइन नंबर दिखाएगी।

आत्महत्या रोकथान हेल्पलाइन
आसरा (Aasra) हेल्पलाइन- +919820466726
समय: 24 घंटे सातों दिन

रोशनी (Roshni) हेल्पलाइन- +914066202000
समयः सोमवार से शनिवार (सुबह 11 बजे से रात नौ बजे तक)

कूज (Cooj) हेल्पलाइन - +918322252525
समयः सोमवार से शुक्रवार (दोपहर 1 बजे से शाम 7 बजे तक)

स्नेहा इंडिया फाउंडेशन (Sneha India Foundation) हेल्पलाइन- +914424640050
समयः 24 घंटे सातों दिन

Posted By: Amit Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस