मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चह्वाण के लिए उनकी ही कैबिनेट के मंत्री परेशानी खड़ कर रहे हैं। बच्चों की शादी में बेहिसाब धन खर्च कर आयकर विभाग के निशाने पर आए शहरी विकास मंत्री भाष्कर जाधव के बाद प्रदेश के करीब आधे मंत्रियों द्वारा मुख्यमंत्री के आदेश की अवहेलना का मामला सामने आया है। चह्वाण के निर्देश के बावजूद 55 फीसद मंत्रियों ने ही अपनी संपत्ति की घोषणा की है। संपत्ति की जानकारी नहीं देने वालों में सूबे के गृह मंत्री आरआर पाटिल और उद्योग मंत्री नारायण राणे भी शामिल हैं।

एक आरटीआइ के जरिये मुख्यमंत्री कार्यालय को अपनी संपत्ति की जानकारी देने वाले मंत्रियों की सूची मांगी गई थी। मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा दिए गए जवाब के अनुसार दिसंबर, 2010 में चह्वाण ने मंत्रियों को अपनी संपत्ति और देनदारी की घोषणा करने को कहा था। अप्रैल, 2011 में उन्होंने मंत्रियों को इस बारे में एक पत्र भेजा। इसके बावजूद 40 में से केवल 22 मंत्रियों ने अपनी संपत्ति की जानकारी दी।

संपत्ति की जानकारी नहीं देने वालों में राजस्व मंत्री बालासाहेब थोराट, ग्रामीण विकास मंत्री जयंत पाटिल और सहकारिता व संसदीय मामलों के मंत्री हर्षव‌र्द्धन पाटिल भी शामिल हैं।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप