नई दिल्ली, एजेंसी। शराब पीकर यात्रियों द्वारा विमान में दु‌र्व्यवहार की बढ़ती घटनाओं के बीच एयर इंडिया ने उड़ान के दौरान शराब परोसने की नीति में संशोधन किया है। संशोधित नीति में क्या-क्या बदलाव हुआ है, फिलहाल इसका सटीक पता नहीं चल सका है।

चालक दल रखेगा नजर

माना जा रहा है कि यात्रियों को शराब तार्किक और सुरक्षित तरीके से दी जाएगी। उनको विमान में तब तक शराब पीने की अनुमति नहीं होगी, जब तक वह चालक दल द्वारा नहीं परोसी गई हो। जो यात्री अपनी खुद की शराब का सेवन कर रहे होंगे, चालक दल उन पर नजर रखेगा। चालक दल से कहा गया है कि जरूरत पड़ने पर शराब परोसने से मना करने में चतुराई से काम लें। शराब देने से मना करने की स्थिति में क्या करें और क्या न करें की एक सूची भी विमानन कंपनी ने जारी की है।

सीट पर पेशाब करने की आंतरिक जांच बंद

न्यूयार्क से नई दिल्ली की फ्लाइट में एक महिला की सीट पर सहयात्री द्वारा पेशाब किए जाने के लगभग दो महीने बाद एयर इंडिया ने मामले की आंतरिक जांच बंद कर दी है। एयर इंडिया ने कहा है कि नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) द्वारा विमान के पायलट का लाइसेंस निलंबित करना बहुत कड़ी सजा है। इसलिए इसके खिलाफ वह अपील करेगी। पिछले सप्ताह डीजीसीए ने इस मामले को लेकर एयर इंडिया पर 30 लाख और इन-फ्लाइट निदेशक पर तीन लाख रुपये का जुर्माना लगाया था।

पायलट का निलंबन वापस लेने की मांग

छह यूनियनों के एक संयुक्त मंच ने मंगलवार को डीजीसीए से एयर इंडिया के पायलट के लाइसेंस का निलंबन रद करने अनुरोध किया। महिला यात्री की सीट पर एक व्यक्ति द्वारा पेशाब किए जाने के मामले में पिछले सप्ताह डीजीसीए ने पायलट का लाइसेंस तीन महीने के लिए निलंबित कर दिया था। यूनियनों ने अपने पत्र में कहा है कि शिकायतकर्ता के आरोपों की गंभीर प्रकृति को देखते हुए पायलट पर की गई कार्रवाई का मूल्यांकन करने की आवश्यकता है।

विमान में यात्रियों का अनुचित व्यवहार, एयर इंडिया पर 10 लाख का जुर्माना

डीजीसीए ने पेरिस से नई दिल्ली आ रहे विमान में यात्रियों के अनुचित व्यवहार की दो घटनाओं की रिपोर्ट नहीं देने की खातिर एयर इंडिया पर 10 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। एक सप्ताह के भीतर यह दूसरा मौका है, जब डीजीसीए ने एयर लाइन पर जुर्माना लगाया है। डीजीसीए ने मंगलवार को एक बयान जारी कर कहा कि यात्रियों के आपत्तिजनक व्यवहार की दोनों घटनाएं छह दिसंबर, 2022 की हैं। एक घटना में एक यात्री शराब पीकर शौचालय में धूमपान कर रहा था। दूसरी घटना में एक यात्री ने खाली सीट और कंबल पर पेशाब कर दी। यह सीट एक महिला की थी और घटना के समय वह शौचालय गई हुई थी।

DGCA ने Air India पर लगाया 10 लाख रुपये का जुर्माना, नहीं दी गई थी 6 दिसंबर को हुई घटना की सूचना

'पेशाब कांड' में उड़ान से हटाए गए क्रू सदस्यों को वापस लेने की मांग, एआइसीसीए ने डीजीसीए को लिखा पत्र

Edited By: Mohd Faisal

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट