नई दिल्ली, एएनआइ।  भारतीय वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने लड़ाकू विमान राफेल को लेकर बड़ा बयान दिया है। धनोआ ने कहा कि 2002 में जब ऑपरेशन पराक्रम हुआ तो पाकिस्तान में क्षमता नहीं थी। इसके बाद पाकिस्तान ने अपनी तकनीक को अपग्रेड किया लेकिन, अब राफेल के आने से हमारी ताकत और बढ़ जाएगी। पाकिस्तान तब नियंत्रण रेखा पर आने से डरेगा।   

बता दें कि भारतीय वायु सेना के चीफ मार्शल बीएस धनोवा ने सोमवार (27 मई 2019) को कारगिल शहीद स्क्वैड्रन लीडर अजय आहूजा को याद किया। उन्होंने पंजाब के भिसियाना एयर फोर्स स्टेशन से उड़ान भरी इसका एक वीडियो भी सामने आया है। 

आहूजा पाकिस्तान के खिलाफ 1999 में कारगिल युद्ध के दौरान शहीद हो गए थे। आहूजा सफेद सागर ऑपरेशन जिसे कारगिल युद्ध के दौरान हवाई क्षेत्र द्वारा दुश्मनो पर हमलों के लिए बनाया गया था उसमें शामिल थे। 1999 में अजय आहूजा कारगिल की जंग के दौरान पाकिस्तान की बर्बरता का शिकार हो गए थे। आहूजा मिग 21 प्लेन उड़ा रहे थे। जानकारी के लिए बता दें कि पाकिस्तान ने अपनी सुरक्षा के लिए वायुसेना की करीब 42 स्क्वाड्रन की दरकार है। मौजूदा समय की बात करे तो केवल 31 स्क्वाड्रन ही काम कर रहे हैं। इसके मुताबिक हाल फिलहाल में ही भारत करीब 11 स्क्वाड्रन की कमी है। वहीं पाकिस्तान के पास 23 स्क्वाड्रन हैं। साथ ही उसके पास आठ प्रमुख एयरबेस भी है। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ayushi Tyagi