जयपुर (नई दुनिया ब्यूरो)। राजस्थान के सीमावर्ती जिले जैसलमेर ने अपराध विहीन गांवों के मामले में एक उदाहरण पेश किया है। यहां के 436 गांवों में पिछले तीन साल से कोई आपराधिक मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है। यह जिला पाकिस्तान से लगती अंतरराष्ट्रीय सीमा पर स्थित है और यहां कुल 840 गांव हैं। इनमें से आधे से ज्यादा यानी 436 गांव अपराध विहीन हैं।

विश्व में सबसे तेजी से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था है भारत

सभी गांव पाकिस्तान से लगती सीमा के आसपास ही स्थित हैं और इनकी कुल आबादी करीब तीन लाख है। जिला प्रशासन ने राज्य सरकार को एक प्रस्ताव भेजकर इन गांवों में विकास के लिए अतिरिक्त राशि देने की सिफारिश की है।

देश के तोड़ने वालों के खिलाफ सामाजिक प्रक्रिया होनी जरूरी: डोभाल

पाक पीएम नवाज शरीफ की ओपन हार्ट सर्जरी सफल, ICU में शिफट

सामने आए आंकड़ों के अनुसार, राजस्थान में करीब 3400 गांव अपराध विहीन पाए गए हैं और जैसलमेर में ऐसे गांवों की संख्या सबसे ज्यादा है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि इन गांवों में आबादी ज्यादा नहीं है और ये ज्यादातर गांव समुदाय आधारित हैं। यानी उनमें दूसरे समुदायों के लोग बहुत कम हैं। यहां गांव वाले अपनी परंपराओं के अनुसार रहते हैं और यही अपराध न होने का बड़ा कारण है। पुलिस अधीक्षक राजीव पचार का कहना है कि यहां के गांवों ने एक उदाहरण पेश किया है। इसीलिए सरकार को विकास के लिए अतिरिक्त राशि देने की सिफारिश की गई है।

विश्व के 10 सबसे अमीर देशों में शामिल हुआ भारत, कनाड़ा-आस्ट्रेलिया को पछाड़ा

महज 18 दिनों में ब्राजील सरकार को दूसर बड़ा झटका, मंत्री ने दिया इस्तीफा

गिरावट के बाद भी चीन दुनिया की एक बड़ी अर्थव्यवस्था: जेटली

Posted By: Kamal Verma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस