अहमदाबाद [जासं]। केंद्रीय गृहमंत्रालय ने गुजरात के 18 आईपीएस अधिकारियों की ओर से संपलि की घोषणा नहीं करने पर उनकी पदोन्नति, पुलिस व राष्ट्रपति मेडल के लिए नाम रोकने को कहा है। इनमें गुजरात दंगों को लेकर मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी पर सवाल उठाने वाले निलंबित आईपीएस संजीव भट्ट भी शामिल है।

केंद्रीय गृहमंत्रालय की ओर से गुजरात के गृहमंत्रालय को आईपीएस अधिकारियों की संपलि का विवरण मागा था। राज्य के करीब डेढ दर्जन आईपीएस अधिकारियों ने अभी तक भी अपनी संपलि की जानकारी मंत्रालय को नहीं दी है। इनमें गुजरात दंगों को लेकर मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को आरोपी बताने वाले निलंबित आईपीएस संजीव भट्ट, दंगों में आरोपी पीबी गोंदिया, केडी पाटडिया, हिमाशु भट्ट, जयपाल सिंह राठौड़, श्वेता श्रीमाली, लीना पाटिल आदि नाम शामिल है। मंत्रालय ने अपनी संपलि की घोषणा नहीं करने तक इन आईपीएस अधिकारियों की पदोन्नति पर रोक लच्चने व बहादुरी, पुलिस व राष्ट्रपति मेडल के लिए भी नाम नहीं देने को कहा है।

1 केडी पाटडिया बैच 1985

2 प्रवीण बी गोंदिया बैच 1987

3 संजीव आर भट्ट बैच 1988

4 विकास सहाय बैच 1989

5 एनडी सोलंकी बैच 1992

6 हिमाशु भट्ट बैच 1996

7 अमित कुमार विश्वकर्मा बैच 1998

8 एचजी पटेल बैच 1999

9 एसके गढवी बैच 2003

10 पीजी मनीलाल बैच 2004

11 एचआर चौधरी बैच 2005

12 अंतरीप सूद बैच 2010

13 श्वेता श्रीमाली बैच 2010

14 जयपाल सिंह राठौड़ बैच 2010

15 लीना एम पाटिल बैच 2010

16 निर्लिप्त रॉय बैच 2010

17 एमडी वसुदेवभाई बैच 2010

18 महेंद्र बागरिया बैच 2010

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप