जागरण संवाददाता, नोएडा : सेक्टर-93ए स्थित सुपरटेक एमराल्ड के दोनों टावर (एपेक्स सियान) को ध्वस्त करने से पहले 25 अगस्त को पुलिस, प्राधिकरण, एनडीआरएफ, स्वास्थ्य, दमकल विभाग और एडफिस कंपनी की ओर से माक ड्रिल होगी। इसमें यातायात पुलिस, एनडीआरएफ और स्वास्थ्य विभाग की टीम की महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी। ध्वस्तीकरण से पहले आसपास के अस्पतालों को भी अलर्ट पर रखा जाएगा, ताकि किसी प्रकार की घटना होने पर तुरंत स्वास्थ्य सेवा मुहैया कराई जा सके। दोनों टावर में 13 अगस्त से विस्फोटक लगाने की प्रक्रिया शुरू की गई है। 15 दिन में विस्फोटक लगाने का कार्य पूरा करने के बाद 28 अगस्त को दोनों टावर को ध्वस्त किया जाएगा।

कंपनी प्रबंधन ने बताया कि विस्फोट से पहले 25 अगस्त को माक ड्रिल की योजना बनाई जा रही है। इसमें टावरों के आसपास सुरक्षा उपायों के साथ-साथ आंतरिक सड़कों और पास के नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे पर यातायात प्रबंधन शामिल होगा। इसमें देखा जाएगा कि जिन मार्गों पर रूट डायवर्जन किया जा रहा है और जहां यातायात रोका जा रहा है, वहां किस प्रकार की स्थितियां बन रही हैं और इसे किस तरह से और बेहतर किया जा सकता है। माक ड्रिल के दौरान एंबुलेंस, फायर टेंडर, पर्याप्त पानी के स्प्रे और अन्य आपातकालीन सेवाओं की तैनाती की तैयारी और व्यवस्था को भी परखा जाएगा। अंतिम विस्फोट के लिए आवश्यक विस्फोटकों की मात्रा 3700 किलोग्राम आंकी गई है। इसे 100 मीटर के दो टावरों के पिलर में ड्रिल किए गए छेदों में लगाया जा रहा है।

---------

500 से अधिक पुलिसकर्मी होंगे तैनात :

28 अगस्त को दोनों टावर के ध्वस्तीकरण के दिन टावर के आसपास 500 से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया जाएगा। इसके अलावा यातायात को लेकर 150 ट्रैफिक पुलिसकर्मियों की मांग की है, ताकि सभी डायवर्ट किए गए और बाकी रूट पर कड़ी नजर रखी जा सके। विस्फोट वाले दिन नोएडा एक्सप्रेस-वे को 30 मिनट के लिए बंद किया जाएगा। वहीं माक ड्रिल के दौरान भी नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे पर भी यातायात को आधे घंटे के लिए रोका जाएगा।

Edited By: Jagran