लखनऊ, जागरण संवाददाता। खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग की ओर से की गई छापेमारी में पुराने लखनऊ के नादान महल रोड स्थित पांच मेडिकल स्टोरों पर तमाम अनियमितताएं पाई गई। इनमें नारकोटिक्स ग्रुप की दवाएं बिना लाइसेंस के बेची जा रही थी।

टीम को मेडिकल स्टोर के संचालक से इन दवाओं की बिक्री से संबंधित दस्तावेज नहीं मिले। साथ ही किसी मेडिकल स्टोर पर फार्मासिस्ट भी नहीं मिले। टीम ने इन मेडिकल स्टोर पर शेड्यूल एच की दवाओं की बिक्री पर रोक लगा दी है। संचालकों के खिलाफ औषधि अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी।

सहायक आयुक्त (औषधि) बृजेश कुमार और औषधि निरीक्षक माधुरी सिंह के नेतृत्व में टीम की छापेमाारी की गई। इस दौरान सात नमूने एकत्र किए गए हैं। इनमें पांच एलोपैथिक दवाएं एवं दो कॉस्मेटिक दवाओं के नमूने जांच के लिए राजकीय जन विश्लेषक प्रयोगशाला भेजे गए हैं। टीम ने मेडिकल स्टोरों से करीब 70 हजार रुपये की नारकोटिक्स ग्रुप की दवाएं बरामद की हैं। सत्यापन होने तक इनकी बिक्री पर प्रतिबंध लगाया है।

इन मेडिकल स्टोरों पर छापेमारी की हुई कार्रवाई : प्रकाश मेडिकल स्टोर, लक फार्मेसी, किंग मेडिकल स्टोर, एसएस मेडिकल और किशोर फार्मेसी स्टोर में छापेमारी की कार्रवाई की।

एफएसडीए में सहायक आयुक्त बृजेश कुमार ने बताया कि किसी भी मेडिकल स्टोर पर एक्सपायर दवाएं रखने की अलग व्यवस्था नहीं पाई गई। यह नियमों का उल्लंघन है। लोगों के जान के साथ खिलवाड़ भी है। ऐसे मेडिकल स्टोर पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Vrinda Srivastava