लखीमपुर, संवाद सूत्र। स्थानीय राजापुर मंडी में संयुक्त किसान मोर्चा के तत्वावधान में चल रही 75 घंटे की महापंचायत में किसान नेता राकेश टिकैत ने दूसरे दिन भी केंद्र सरकार व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी पर निशाना साधा। टिकैत ने किसानों का आवाहन करते हुए कहा कि किसान इस से भी बड़े आंदोलन के लिए तैयारी रखें क्योंकि ऐसा नहीं लगता कि सरकार उनकी मांगों को इतनी आसानी से मान लेगी।

टिकैत ने कहा कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जब तक अपने पद पर बने रहेंगे तब तक वह जांच को प्रभावित करेंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि मंत्री 120 बी आरोपित हैं और किसी भी मुलजिम को कहां होना चाहिए यह सबको पता है। टिकैत ने कहा कि किसानों के ऊपर दर्ज किए गए मुकदमे तत्काल प्रभाव से वापस किए जाएं और उत्तर प्रदेश उत्तराखंड में किसानों की जमीन को हड़पने का जो घिनौना खेल खेला जा रहा है उसे तत्काल प्रभाव से रोका जाए।

उन्होंने ये भी कहा कि राजापुर मंडी किसानों की है। यहां पर किसानों को आने से क्यों रोका जा रहा है। कहा कि सरकार कान खोल कर सुन ले, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री का नाम अपने आंदोलन में तब तक लेते रहेंगे जब तक उस पर कार्रवाई नहीं कर दी जाती। मंच से ये जानकारी भी दी कि शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के कई जिलों के कलेक्ट्रेट में जोरदार प्रदर्शन और धरना चल रहा है और यह लगातार जारी रहेगा।

मंच पर मौजूद रहने वाले नेताओं में राष्ट्रीय प्रवक्ता भाकियू राकेश टिकैत, तेजिंदर विर्क स्टार प्रचारक, ओमपाल मलिक राष्ट्रीय महासचिव, रामपाल सिंह प्रदेश अध्यक्ष उत्तर प्रदेश, रतन मान, हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. दर्शन पाल, बलजिंदर सिंह मान, जोगिंदर उगरा आदि लोग उपस्थित रहे।

टिकैत की अगुवाई में 10 सदस्य प्रतिनिधि मंडल जिला कारागार के लिए रवाना : लखीमपुर खीरी हिंसा में जेल में बंद भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या के आरोपियों से मिलने किसान नेता राकेश टिकैत की अगुवाई में दस सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल जिला कारागार को भी रवाना हुआ। राजापुर मंडी में भाषण देने के बाद टिकैत अपने नौ अन्य साथियों के साथ जिला कारागार में किसानों से मुलाकात करने के लिए रवाना हो गए इस दौरान उनके साथ कड़ी सुरक्षा भी लगातार तैनात रखी गई।

Edited By: Vrinda Srivastava