नई दिल्ली, एजेंसी। Krishna Janmashtami 2022 देश में हर साल भगवान कृष्ण का जन्मोत्सव काफी धूमधाम से मनाया जाता है। भगवान के जन्मोत्सव को जन्माष्टमी के त्योहार के रूप में मनाया जाता है। हर साल की तरह इस बार भी जन्माष्टमी के त्योहार की मंदिरों में धूमधाम में तैयारियां चल रही हैं। लोगों में उल्लास का माहौल है और देशभर के मंदिरों की मनमोहक तस्वीरें सामने आने लगी हैं। वृंदावन के बांकेबिहारी से लेकर मथुरा के इस्कोन मंदिर तक बड़े ही खूबसूरत ढंग से सजाए गए हैं।

जन्माष्टमी की तिथि को लेकर संशय

वैसै तो हर साल लोग जन्माष्टमी से पहले ही तैयारियां शुरू कर लेते हैं लेकिन इस बार लोगों में इसकी तिथि को लेकर संशय था। इस बार दो दिन 18 और 19 अगस्त को जन्माष्टमी मनाई जा रही है। हिंदू कैलेंडर के अनुसार अष्टमी तिथि आज 18 अगस्त को रात 9 बजकर 21 मिनट से शुरू हो जाएगी। यह तिथि कल यानी 19 अगस्त को रात 10 बजकर 59 मिनट पर समाप्त हो जाएगी। बता दें कि ऐसी मान्यता है कि भगवान कृष्ण का जन्म रात 12 बजे हुआ था यही कारण है कि आज का दिन शुभ माना जा रहा है।

दिल्ली के इस्कान मंदिर में भव्य आयोजन

जन्माष्टमी के अवसर पर दिल्ली में भी हर साल की तरह इस वर्ष भी भगवान श्रीकृष्ण व मंदिर की सजावट पर्यावरण संरक्षण का संदेश देती हुई नजर आएगी। पंजाबी बाग स्थित इस्कान मंदिर में पर्यावरण संरक्षण थीम को मद्देनजर रखते हुए सजावट की जा रही है। सजावट के माध्यम से भक्तों को समझाया जाएगा कि सिंगल यूज प्लास्टिक पर्यावरण के लिए कितना घातक है। न सिर्फ सजावट बल्कि भगवान श्रीकृष्ण की पोशाक भी कुछ इसी प्रकार डिजाइन की गई है कि ताकि जन-जन तक संदेश पहुंचे कि पर्यावरण जीवन का अहम हिस्सा है।

वृंदावन और मथुरा में भी धूम, कल मनाई जाएगी जन्माष्टमी

वृंदावन और मथुरा में भी जन्माष्टमी को लेकर बड़े स्तर पर तैयारियां चल रही है। बांके बिहारी से लेकर प्रेम मंदिर तक सजने लगे हैं। बता दें कि उदयातिथि को देखते हुए इस बार 19 अगस्त को अष्टमी तिथि मानी जाएगी और इसी के कारण मथुरा, वृंदावन, द्वारिकाधीश, बांके बिहारी मंदिर में जन्माष्टमी 19 अगस्त को मनाई जाएगी।

Edited By: Mahen Khanna