जिले में 57 की जगह सिर्फ 15 राजस्व निरीक्षक

जागरण संवाददाता, संतकबीर नगर: शासन स्तर से लोगों को अच्छी सुविधा देने के दावे किए जाते हैं। धरातल का सच ठीक इसके विपरित है। जिले के तीन तहसीलों में क्षेत्र व कार्यालय काम के लिए राजस्व निरीक्षक के 57 पद स्वीकृत हैं। इसकी तुलना में केवल 15 राजस्व निरीक्षक तैनात हैं। शासन की गाइडलाइन के अनुसार 15 दिन के अंदर वरासत का कार्य होना चाहिए लेकिन इसके लिए लोगों को तहसीलों में तीन से चार माह तक दौड़ लगाने के लिए विवश हैं। यही हाल पक्की निशानदेही सहित अन्य कार्यों की है। राजस्व निरीक्षक के 42 पद रिक्त होने का खामियाजा जनपदवासी भुगत रहे हैं।

शासन स्तर से जिले के खलीलाबाद, धनघटा व मेंहदावल आदि तीन तहसीलों में राजस्व निरीक्षक के लिए कुल 57 पद स्वीकृत हैं। इसमें से 47 पद क्षेत्र के लिए जबकि 10 पद कार्यालय के शामिल हैं। वर्तमान में खलीलाबाद में छह तैनात वहीं 11 रिक्त, धनघटा में चार तैनात वहीं 11 रिक्त व मेंहदावल तहसील में क्षेत्र के कार्य के लिए पांच तैनात जबकि 10 राजस्व निरीक्षक के पद रिक्त हैं। इसके अलावा कार्यालय के काम के लिए खलीलाबाद में चार, धनघटा व मेंहदावल में तीन-तीन यानी इन तीन तहसीलों में राजस्व निरीक्षक के कुल 10 पद रिक्त हैं। इस प्रकार इन तीन तहसीलों में क्षेत्रीय काम के लिए स्वीकृत 47 में से 32 पद रिक्त जबकि कार्यालय के काम के लिए स्वीकृत 10 में से 10 राजस्व निरीक्षक के पद रिक्त हैं। जनपद में क्षेत्रीय व कार्यालय के काम के लिए राजस्व निरीक्षक के 57 में से 42 पद रिक्त होने का असर साफ दिख रहा है। इसके चलते एक राजस्व निरीक्षक को दो से तीन क्षेत्रों का काम देखना पड़ रहा है। जबकि इन्हें वरासत के अलावा पक्की निशानदेही, शासन की महत्वाकांक्षी योजना व राजस्व परिषद के महत्वपूर्ण कार्य करना होता है। नियमानुसार वरासत का कार्य 15 दिन के अंदर हो जाना चाहिए लेकिन इस कार्य के लिए लोगों दो से तीन माह तक तहसील का चक्कर लगाना पड़ रहा है। इसी तरह पक्की निशानदेही का काम समय से नहीं हो पा रहा है। काफी संख्या में पद रिक्त होने का खामियाजा जनपदवासी झेल रहे हैं। यह समस्या कब दूर होगी फिलहाल कुछ कहा नहीं जा सकता।

जिले में तहसीलवार राजस्व निरीक्षक के इतने पद स्वीकृत

तहसील : क्षेत्र के लिए: कार्यालय के लिए: कुल

खलीलाबाद : 17 : 04 : 21

धनघटा : 15 : 03 : 18

मेंहदावल : 15 : 03 : 18

योग : 47 : 10 : 57

शासन के दिशा-निर्देश पर ही रिक्त पदों पर तैनाती हो पाएगी। वर्तमान में तैनात राजस्व निरीक्षकों के जरिये लोगों को अच्छी सुविधा देने का प्रयास किया जा रहा है।

दिव्या मित्तल,डीएम

Edited By: Jagran