आगरा, जागरण संवाददाता। सुंदरता का प्रतिमान कहा जाने वाला ताजमहल अब प्लास्टिक की रिसाइकिलिंग का संदेश देने वाला स्मारक बन गया है। शनिवार को भारतीय क्रिकेटर पूनम यादव ने स्मारक में लगाई गई बोतल क्रशिंग मशीन का लोकार्पण किया। ताजमहल आगरा सर्किल का पहला स्मारक है, जहां बोतल क्रशिंग मशीन लगाई गई है। मशीन में एक दिन में करीब चार हजार बोतलों को क्रश किया जा सकेगा। प्लास्टिक वेस्ट को रिसाइकिलिंग के लिए भेजा जा सकेगा।

बाेतल क्रशिंग मशीन का लोकार्पण करने के बाद पूनम यादव ने कहा कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण स्मारकों के संरक्षण के साथ ही सामाजिक सरोकारों को भी निभा रहा है। बोतल क्रशिंग मशीन लगने के बाद प्लास्टिक प्रदूषण की समस्या कम होगी। पूनम ने स्मारक में ताजमहल के जलाशयों पर एएसआइ द्वारा तैयार छायाचित्र प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया। आगरा किला के जलाशयों पर आधारित छायाचित्र प्रदर्शनी आगरा किला में लगी, जिसे आरबीएस इंंजीनियरिंग कालेज ने तैयार किया है। वहीं, सिकंदरा के पूर्वी दालान में लगी छायाचित्र प्रदर्शनी गुरु का ताल पर आधारित रही, जिसे दयालबाग शिक्षण संस्थान के छात्रों ने तैयार किया है। अधीक्षण पुरातत्वविद डा. राजकुमार पटेल ने बताया कि दयालबाग शिक्षण संस्थान और आरबीएस के छात्रों ने जलाशयों के संरक्षण व उनके इस्तेमाल को सुझाव भी दिए हैं। राजनारायण, अमरनाथ गुप्ता, दयालबाग शिक्षण संस्थान के कुलसचिव आनंद मोहन, वी. स्वामी दास, प्रिंस वाजपेयी, दीपक परमार, अंकित नामदेव आदि मौजूद रहे।

चीनी का रोजा और जसवंत सिंह की छतरी भी किए रोशन

एएसआइ ने जिले में आगरा किला, फतेहपुर सीकरी, अकबर के मकबरे व एत्माद्दौला के प्रवेश द्वार को तिरंगी रोशनी में रोशन किया हुआ है। शनिवार शाम से चीनी का रोजा और जसवंत सिंह की छतरी को भी रोशन कर दिया गया। 14 व 15 अगस्त को यह स्मारक रोशन रहेंगे।

तीन जगह और लगेगा तिरंगा

एएसआइ द्वारा तीन और जगहों का चयन 50 फीट ऊंचे पोल पर तिरंगा लगाने के लिए किया गया है। अकबर के मकबरे, चीनी का रोजा के साथ ही केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल की ताजमहल इकाई के करबना स्थित आवासीय परिसर में 30 अगस्त तक 50 फीट ऊंचाई पर तिरंगा लगाया जाएगा। शनिवार को फतेहपुर सीकरी के दीवान-ए-आम में 50 फीट ऊंचाई पर तिरंगा लहरा दिया गया। आगरा किला के बाहर शुक्रवार को तिरंगा लहराया गया था। 

Edited By: Tanu Gupta