प्रयागराज, जागरण संवाददाता। अपने सेवाकाल के दौरान उत्कृष्ट, सराहनीय सेवा और बेदाग छवि के चलते एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह, डिप्टी एसपी अजीत सिंह चौहान व डिप्टी एसपी एसटीएफ नवेंदु कुमार को राष्ट्रपति के पुलिस मेडल से नवाजा जाएगा। केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से स्वतंत्रता दिवस पर यह सम्मान दिया जाएगा। जिले को गौरवान्वित करने वाली इस उपलब्धि पर अधिकारियों, कर्मचारियों व शुभेच्छुओं ने हर्ष जताया है।

एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह को मिल चुका है कई पदक : एडिशनल एसपी दिनेश कुमार सिंह मूलरूप से गाजीपुर के रहने वाले हैं। प्रयागराज शहर के एसपी सिटी पद पर तैनात हैं। इससे पहले उन्हें डीजीपी के अलग-अलग प्रशंसा चिह्न से सम्मानित किया जा चुका है। लखनऊ में तैनाती के दौरान वर्ष 2015 में डीजीपी का सिल्वर मेडल, झांसी में पोस्टिंग के वक्त 2017 में गोल्ड और एसपी सिटी वाराणसी रहते हुए उन्हें 2019 में प्लेटिनम मेडल मिल चुका है।

एनकाउंटर स्‍पेशलिस्‍ट हैं डिप्‍टी एसपी अजीत सिंह : सीओ कर्नलगंज के पद पर तैनात डिप्टी एसपी अजीत सिंह सासाराम, रोहतास बिहार के निवासी हैं। उत्तर प्रदेश पुलिस में उन्होंने 1997 में सेवा शुरू की और पूर्वांचल में करीब डेढ़ दर्जन एनकाउंटर किए थे। वर्ष 2015 में वह डिप्टी एसपी बने। वर्ष 2017 में उन्हें डीजीपी का सिल्वर और 2019 में गोल्ड मेडल मिला।

एसटीएफ के डिप्‍टी एसपी नवेंदु कई अपराधियों व डकैतों को मार गिराया है : एसटीएफ के डिप्टी एसपी नवेंदु कुमार भी मूलरूप से बिहार के निवासी हैं। उन्होंने भी कई अपराधियों, डकैतों को ढेर किया है। साहसिक प्रदर्शन के चलते उन्हें वर्ष 2008 में राष्ट्रपति का गैलेंट्री और 2014 में राष्ट्रपति का पराक्रम अवार्ड से नवाजा जा चुका है।

परिवहन शाखा प्रभारी इंस्‍पेक्‍टर नागेंद्र मिश्रा को भी पदक : इन तीनों अधिकारियों को राष्ट्रपति के पुलिस पदक से सम्मानित किया जा रहा है। इसके अलावा परिवहन शाखा के प्रभारी इंस्पेक्टर नागेंद्र मिश्रा को भी इस पदक को देने के लिए लखनऊ बुलाया गया है।

Edited By: Brijesh Srivastava