बिजली कटौती से बढ़ी परेशानी, दिनचर्या प्रभावित

जासं , महराजगंज: जिले में उमस भरी गर्मी में भी बिजली कटौती की समस्या बनी हुई है। ग्रामीण हो या शहरी क्षेत्र, दिनभर बिजली की आंख मिचौली के बाद रातों में गुल हो जा रही है, जिसके कारण लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लोगों की दिनचर्या प्रभावित हो रही है।

महराजगंज, निचलौल, फरेंदा और नौतनवा डिविजन को मिलाकर करीब चार लाख उपभोक्ता हैं। इन्हें 10 हजार ट्रांसफार्मरों के माध्यम से बिजली आपूर्ति की जाती है। शहरी क्षेत्र को 24 घंटे, तहसील में साढ़े 21 घंटे तथा ग्रामीण इलाकों में 18 घंटे बिजली देने का शेड्यूल है, बावजूद लोगों को निर्धारित बिजली नहीं मिल रही है। अनियमित कटौती, हर थोड़ी देर पर हो रहे फाल्ट और लो-वोल्टेज की समस्या से उपभोक्ता काफी परेशान हैं। लाइन गुल होते ही बिजली से चलने वाले उपकरण शो-पीस बन जा रहे हैं। बीती रात घुघली में बेलवाटिकर से चौमुखा के बीच तार पर पेड़ गिरने से पूरी रात बिजली बाधित रही। विद्युत विभाग के काफी प्रयास के बाद सुबह आपूर्ति हो सकी।

इसी प्रकार फरेंदा, निचलौल और सोनौली क्षेत्र में रातों में बिजली कटौती से जहां उपभोक्ताओं की दिक्कत बढ़ गई है, वहीं पर्यटक सहित अन्य लोग भी परेशान हैं। शिकायत के बाद भी समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है। नगर के चौपरिया, शास्त्रीनगर, लोहियानगर, सुभाषनगर, इंद्रानगर में शाम होते ही लो वोल्टेज की समस्या शुरू हो जाती है। पंखा सिर्फ रेंगता है। बल्ब ढिबरी की तरह जलते हैं। वोल्टेज कम होने के कारण पानी के मोटर जवाब देते हैं, जिससे लोगों को पानी के लिए परेशान होना पड़ता है। नेपाल से सटे संवेदनशील क्षेत्र के सोनौली सीमा अंतर्गत अधिकांश गांवों में रात में कटौती का फायदा क्षेत्र के सक्रिय तस्कर उठा रहे हैं।

अधिशासी अभियंता हरिशंकर ने बताया कि बिजली पर्याप्त मिल रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में फाल्ट के कारण कुछ दिक्कतें आ रही है, जिसे कर्मचारियों द्वारा तत्काल ठीक कर आपूर्ति बहाल कर दी जा रही है।

Edited By: Jagran