जासं,बठिंडा। सीआइए स्टाफ वन की टीम ने शहर के विभिन्न इलाकों से मोटरसाइकिल और एक्टिवा चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए गिरोह के मास्टरमाइंड समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया है। दो आरोपित अभी फरार है, जो चोरी की मोटरसाइकिल व एक्टिवा को बेचने का काम करते थे। पुलिस द्वारा पकड़े दो आरोपितों से विभिन्न कंपनी के 28 मोटरसाइकिल व पांच स्कूटी बरामद की है। पकड़े गए दो आरोपित में से एक नाबालिग है। सीआइए स्टाफ वन की टीम ने गिरोह के नाबालिग आरोपित समेत चार लोगों को नामजद कर अगली कार्रवाई शुरू कर दी है। गिरोह के मास्टरमाइंड को अदालत में पेश कर उसका पुलिस रिमांड हासिल कर पूछताछ की जा रही है। जबकि फरार आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है। नाबालिग आराेपित को जमानत पर छोड़ दिया गया है। गिरोह के पास से बरामद वाहनों की कीमत करीब 12 लाख रुपये है।

एसएसपी बठिंडा जे. एलनचेजियन ने बताया कि शहर में पिछले कुछ समय से लगातार हो रही वाहनों की चोरी के मद्देनजर एसपी (डी) हरपाल सिंह, डीएसपी (डी) दविंदर सिंह की अगुआई में एक जांच टीम का गठन किया गया था। इसमें सीआइए स्टाफ वन के इंचार्ज एसआइ तेजिंदर सिंह, एएसआइ हरिंदर सिंह ने शहर के विभिन्न इलाकों में मुखबिरी के आधार पर नाकाबंदी करवाई थी। वहीं एक टीम थाना सिविल लाइन पुलिस के पास कच्चा धोबियाना चौक बठिंडा में गश्त कर रही थी। इस दौरान पुलिस टीम को गुप्त सूचना मिली कि आरोपित अवतार सिंह उर्फ तारी, बाबी सिंह निवासी कुतवगढ़ भाटा जिला फिरोजपुर शहर के आसपास के इलाकों में एक्टिवा व मोटरसाइकिल चोरी कर इस्तेमाल करते हैं। वहीं चोरी किए कुछ वाहनों को आगे आरोपित कुलदीप सिंह उर्फ कीपी निवासी नजदीक दाना मंडी जीवाअराई व अमरा सिंह निवासी चक्क काठगढ़ जिला फिरोजपुर के साथ मिलकर बेच देते हैं। एएसआइ हरिंदर सिंह ने माडल टाउन फेस तीन बठिंडा में छापामारी कर आरोपित अवतार सिंह उर्फ तारी व बाबी सिंह को एक चोरी की एक्टिवा के साथ गिरफ्तार कर लिया। वहीं आरोपित अवतार सिंह की निशानदेही पर उनकी तरफ से किराये पर लिए एक खाली प्लाट जस्सी चौक बठिंडा मानसा रोड पर छापामारी की। इस स्थान पर पुलिस को 28 मोटरसाइकिल व चार एक्टिवा बरामद हुई। मामले में वाहन चोर गिरोह में शामिल बाबी सिंह अभी 17 साल से कम उम्र का है। इसके चलते उसके खिलाफ केस दर्ज कर जमानत पर रिहा कर दिया गया।

पुलिस के अनुसाार पकड़े गए आरोपित ने पूछताछ में बताया कि उक्त वाहन उन्होंने बठिंडा शहर के विभिन्न बाजारों व गली मोहल्लों से चोरी किए है व इन्हें एक प्लाट में इकट्ठा करने के बाद वह आगे कुलदीप सिंह उर्फ कीपी व अमरा सिंह को बेचते थे। अवतार सिंह ने बताया कि करीब सवा महीने पहले थाना कोतवाली बठिंडा में उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। पुलिस ने फाजिल्का में भी छापामारी की थी। इसके चलते अवतार सिंह उर्फ तारी की तरफ से बेचे गए चोरी के वाहनों को लोगों ने पुलिस के डर से उसे वापस कर दिए थे। आरोपितों ने उक्त लोगों को वाहन यह कहकर बेचे थे कि फाइनांस कंपनी की तरफ से इन्हें जब्त किया गया है, वह अब इन्हें कम रेट पर बेच रहे हैं। लोगों के वाहन वापस करने के बाद उन्होंने वाहनों को जस्सी वाला चौक के पास खाली प्लाट में रख दिया था व मामला ठंडा होने पर इन्हें बेचने की योजना बना रहे थे। पुलिस ने आरोपितों को जिला अदालत में पेश कर रिमांड हासिल किया है व पूछताछ कर पता लगाया जा रहा है कि उक्त चोरी की वारदातों में कितने लोग शामिल है।

वहीं पुलिस वाहनों को आगे बेचने वाले गिरोह के लोगों को गिरफ्तार करने के लिए भी छापामारी कर रही है। आरोपितों ने बताया कि वह आमतौर पर हीरो स्प्लेंडर व एक्टिवा को निशाना बनाते थे। चोरी के लिए सप्ताह में तीन दिन सोमवार, बुधवार व शुक्रवार तय कर रखे थे। चोरों का मानना था कि मंगलवार, वीरवार व शनिवार को लोहे की चोरी करने पर नुकसान होता है व रविवार को उक्त लोग ऐशपरस्ती के लिए रखते थे। पुलिस की टीम आरोपित कुलदीप सिंह जिला फिरोजपुर, अमरा सिंह निवासी काठगढ़ फिरोजपुर को गिरफ्तार करने के लिए रवाना हुई है। उक्त लोगों के खिलाफ पहले भी आधा दर्जन के करीब लूटपाट व चोरी की वारदात करने पर विभिन्न थानों में मामले दर्ज हैं।

Edited By: Pankaj Dwivedi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट