वाराणसी, जागरण संवाददाता। हिंदू पक्ष द्वारा ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में नियमित पूजन अर्चन करने के मामले में मंगलवार की दोपहर दो बजे इस मामले की सुनवाई हुई।जहां अगली तिथि पांच सितंबर तय कर दी गई। जिला जज की अदालत में इस प्रकरण की सुनवाई दोपहर में भले ही हो रही हो लेकिन इसके पूर्व ही दोनों पक्षों की ओर से अदालत में सुनवाई को लेकर गहमागहमी बनी रही और सुबह से ही अदालत परिसर में दोनों पक्ष तैयारी में जुटे नजर आए। ज्ञानवापी मामले में हिंदू पक्ष ने परिसर में ज्ञानवापी सर्वे के दौरान मिले शिवलिंग और अन्‍य देवी देवताओं के विग्रह के पूजन की मांग की थी। इसके पूर्व सर्वे में मिले शिवलिंग को अदालत ने सुरक्षा देते हुए वजूखाने का स्‍थल सील कर दिया था। 

ज्ञानवापी मस्जिद और श्रृंगार गौरी मामले में अदालत ने पूर्व में देवी देवताओं के विग्रह की नियमित पूजन अर्चन की मामले की याचिका दाखिल की गई थी। मगर, अदालत ने यहां पर हिंंदू देवी देवताओं के विग्रह मिलने के साथ ही वजूखाने में सर्वे (एडवोकेट कमिश्‍नर की कार्यवाही) के दौरान वजूखाने में शिवलिंग मिलने के बाद से ही हिंद पक्ष लगातार परिसर में पूजन अर्चन की मांग शुरू कर दी थी। इस मामले में सुनवाई को लेकर दोनों ही पक्षों की ओर से लगातार तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा था। जिला जज की अदालत में दोपहर दो बजे से इस मामले में सुनवाई होनी थी मगर अगली डेट पांच सितंबर मुकर्रर कर दी गई। 

यह है वाद : ज्ञानवापी मस्जिद प्रकरण को लेकर बुधवार 16 अगस्त को भगवान आदि विशेश्वर विराजमान व अन्य बनाम उत्तर प्रदेश राज्य वह अन्य मुकदमा नंबर 712/2022 की सुनवाई सिविल जज सीनियर डिविजन फास्ट ट्रैक कोर्ट में दोपहर 2:00 बजे से हुई और अगली डेट पांच सितंबर तय कर दी गई।

मुस्लिम पक्ष नए सिरे से बना रहा रणनीति : मुस्लिम पक्ष के वकील अभयनाथ यादव के निधन के बाद मुस्लिम पक्ष की स्थिति चिंताजनक हो गई। जिला अदालत में सुनवाई को लेकर मुस्लिम पक्ष अब नए सिरे से रणनीति बना रहा है। इस मामले को लेकर अदालत परिसर में भी सुबह से ही दोनों पक्षों की ओर से गहमागहमी का माहौल बना हुआ है। मुस्लिम पक्ष का दावा है कि ज्ञानवापी वजूखाने में मिले शिवलिंग को फव्‍वारा बताया जा रहा है जिसको लेकर हिंदू पक्ष की ओर से आपत्ति जताई जा रही है। ज्ञानवापी मस्जिद प्रकरण को लेकर मंगलवार दोपहर दो बजे भगवान आदि विशेश्वर विराजमान और अन्य बनाम उत्तर प्रदेश राज्य के मुकदमे पर सुनवाई हुई। सिविल जज सीनियर डिविजन फास्ट ट्रैक कोर्ट में दोपहर दो बजे से सुनवाई को लेकर काफी गहमागहमी सुबह से परिसर में बनी हुई थी। मंगलवार की सुनवाई भगवान आदि विश्वेश्वर विराजमान की नियमित पूजा अर्चना को लेकर हुई।

Edited By: Abhishek Sharma