जागरण संवाददाता, मुरादाबाद। Moradabad Crime News : रंजिश में दबंगों ने मुरादाबाद के पाकबड़ा में एक परिवार पर कुल्हाड़ी, चाकू, तमंचा, लाठी-डंडे से हमला कर दिया। इसमें तीन लोग घायल हो गए। चीख-पुकार सुनकर पड़ोसी घर की तरफ आए तो दबंग भाग गए। परिवार ने पुलिस को तहरीर दी लेकिन पुलिस दो दिन तक मामले को टरकाती रही। इस पर परिवार वालों ने जब तहरीर को ट्वीट करके इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर दिया, तब पुलिस ने मुकदमा दर्ज करके मामले की जांच शुरू की।

मझोला थाना क्षेत्र के उत्तमपुर बहलोलपुर निवासी धर्मवती पत्नी कमल सिंह ने बताया कि रक्षाबंधन पर परिवार सहित अपने घर पर थी। 13 अगस्त की शाम को गांव के ही गुड्डू, अजब सिंह, राजीव, कमलेश, रिंकू, रीनू और दो अज्ञात पुरानी रंजिश को लेकर तमंचा, कुल्हाड़ी, चाकू व लाठी डंडे लेकर घर मे घुस आए और हमला कर दिया। गुड्डू ने घर में घुसते ही कमल के सिर पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया।

रिंकू ने धर्मवती के मुंह मे तमंचा लगाकर पीटना शुरू कर दिया। पीड़ित की बेटी बचाने आयी। तो अजब सिंह ने फावड़े से प्रहार कर घायल कर दिया। जब पीड़िता बीच बचाव करने आई तो उसको बुरी नियत से दबोच कर कमरे में खींच कर ले गए। पीड़िता की दूसरी बेटी को भी पीट पीटकर लहूलुहान कर दिया। चीख पुकार की आवाज सुनकर आस पड़ोस के लोग एकत्र हो गए। उसके बाद दबंग जान से मारने की धमकी देते हुए भाग गए।

सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने घायल धर्मवती, कमल सिंह, ज्योति व शोभा को जिला अस्पताल भर्ती कराया। पुलिस ने धर्मवती की तहरीर पर गुड्डू, अजब सिंह, राजीव, रिंकू सहित छह के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई की। मझोला थाना प्रभारी धनंजय सिंह ने बताया कि आरोपितों को जल्द गिरफ्तार करके जेल भेजा जाएगा।

ट्वीट के बाद पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा

बीते दो दिनों से इस मामले को पुलिस दबाए बैठी थी। मंगलवार को इंटरनेट मीडिया में घायलों का फोटो और तहरीर वायरल कर दी गई। इसके बाद एसएसपी के साथ अन्य अधिकारियों को ट्वीट किए गए। मामले का संज्ञान लेकर तत्काल मझोला पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने के साथ ही कार्रवाई का आश्वासन दिया।

महिला की मौत पर अस्पताल में हंगामा

दिल्ली रोड स्थित एक अस्पताल में महिला की इलाज के दौरान मौत हो गई। स्वजन ने चिकित्सकों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने हंगामा कर रहे लोगों को शांत कराया। पाकबड़ा थाना क्षेत्र के मुहल्ला पंचायत घर निवासी दिलशाद मजदूरी करते है। परिवार में पत्नी रसीदन व तीन बच्चे है। दिलशाद ने बताया कि दोपहर के समय मे रसीदन के अचानक पेट में दर्द हुआ।

जिसके बाद दिल्ली रोड स्थित एक अस्पताल में भर्ती कराया गया। शाम के समय महिला ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। मरीज की मौत की सूचना मिलते ही स्वजन हंगामा करने लगे। पुलिस ने दोनों पक्षों को समझाकर मामला शांत करा दिया। इसके बाद स्वजन बिना पोस्टमार्टम के शव लेकर चले गए।

Edited By: Samanvay Pandey